+

रेलवे ने बताया, गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत 10 लाख से अधिक मानव दिवस काम सृजित किए गए

रेलवे ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 20 जून को कोविड-19 से प्रभावित प्रवासी श्रमिकों की के उनके क्षेत्रों/गांवों में आजीविका के अवसर प्रदान करने के लिए गरीब कल्याण रोजगार अभियान नामक एक विशाल रोजगार-सह-ग्रामीण सार्वजनिक कार्य अभियान शुरू किया
रेलवे ने बताया, गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत 10 लाख से अधिक मानव दिवस काम सृजित किए गए
रेलवे ने रविवार को कहा कि उसने बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश, ओडिशा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत 25 सितंबर तक 10,66,246 मानव दिवस काम सृजित किए हैं। रेलवे के एक बयान के अनुसार, इन राज्यों में लगभग 164 रेलवे अवसंरचना परियोजनाओं को क्रियान्वित किया जा रहा है।

बयान में कहा गया कि 25 सितंबर तक, 12,276 श्रमिकों ने इस योजना के अंतर्गत कार्य किए और परियोजनाओं के क्रियान्वयन के लिए ठेकेदारों को 2190.7 करोड़ रुपये जारी किए गए हैं। बयान में कहा गया, ‘‘रेलवे ने प्रत्येक जिले के साथ-साथ राज्यों में भी नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की है ताकि राज्य सरकार के साथ करीबी समन्वय स्थापित हो।’’ रेलवे ने इस योजना के तहत निष्पादित किए जा रहे कई रेल कार्यों की पहचान की है।

रेलवे ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 20 जून को कोविड-19 से प्रभावित प्रवासी श्रमिकों की के उनके क्षेत्रों/गांवों में आजीविका के अवसर प्रदान करने के लिए गरीब कल्याण रोजगार अभियान नामक एक विशाल रोजगार-सह-ग्रामीण सार्वजनिक कार्य अभियान शुरू किया।’’ उन्होंने घोषणा की थी कि गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत मजबूत ग्रामीण बुनियादी ढांचे के निर्माण के लिए 50,000 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।
facebook twitter instagram