+

MP : कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए हर रविवार को लागू किया जाएगा 'पूर्ण लॉकडाउन'

MP : कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए हर रविवार को लागू किया जाएगा 'पूर्ण लॉकडाउन'
मध्य प्रदेश के सीमावर्ती जिलों में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने सख्त कदम उठाने का फैसला किया है।  इसके तहत मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग के लिए कड़ाई से कदम उठाए जाएंगे, और सप्ताह में एक दिन पूर्ण लॉकडाउन रहेगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में कोरोना वायरस की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा के लिए मंत्रालय में बुधवार शाम को बैठक की।
समीक्षा के बाद मध्य प्रदेश के लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने यहां संवाददाताओं को बताया, ''इंदौर एवं उज्जैन जिलों में हमने कोरोना वायरस पर सफलतापूर्वक नियंत्रण किया है, लेकिन विशेषकर सीमावर्ती जिलों मुरैना एवं बड़वानी में इस महामारी के मामले पिछले एक सप्ताह से बढ़ रहे हैं।''उन्होंने कहा, ''इसलिए हमने फैसला किया है कि समूचे मध्य प्रदेश में हर रविवार को 'पूर्ण लॉकडाउन' लगाया जाएगा।''
मिश्रा ने बताया, ''इस संबंध में सभी सीमावर्ती जिलों में सार्वजनिक परामर्श बृहस्पतिवार को जारी किया जाएगा।''मुरैना जिला राजस्थान के धौलपुर से और बड़वानी जिला महाराष्ट्र के जलगांव से सटा हुआ है। इससे पहले, मुख्यमंत्री चौहान ने समीक्षा बैठक में कहा, ''मध्य प्रदेश में पिछले एक सप्ताह में प्रदेश के कुछ जिलों, विशेषकर सीमावर्ती जिलों से कोरोना वायरस के अधिक मामले आने से मरीजों की दर बढ़ी है। प्रदेश में पहले कोरोना वायरस मरीजों की दर 1.72 थी, जो बढ़कर 2.01 हो गई है।''
बड़वानी, मुरैना एवं अन्य सीमावर्ती जिलों की समीक्षा के दौरान यह तथ्य सामने आया कि वहां कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। इन जिलों में सीमा पार दूसरे प्रांतों में संक्रमण अधिक होने के कारण संक्रमण बढ़ रहा है। बैठक में अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य डॉ मोहम्मद सुलेमान ने बताया, ''प्रदेश में 'किल कोरोना अभियान' के अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं। पहले प्रदेश में जांच क्षमता 6,000 प्रतिदिन थी, जो इस अभियान के चलते प्रतिदिन 12,104 पहुँच गई है। किल कोरोना अभियान के अंतर्गत लिए गए नमूनों के संक्रमित पाए जाने की दर 2.2 प्रतिशत है जो कि अच्छे संकेत हैं।''
इंदौर जिले की समीक्षा में पाया गया कि वहां की हालत में निरंतर सुधार हो रहा है। इंदौर में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों की दर कम हो रही है। पहले यह दर 11 प्रतिशत तक थी जो अब घटकर 2.12 प्रतिशत रह गई है। इंदौर में कोरोना वायरस के 875 मरीजों का उपचार चल रहा है तथा 3,871 मरीज स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। इंदौर में मृत्यु दर एक प्रतिशत से भी नीचे आ चुकी है।मध्यप्रदेश में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में अब तक के सर्वाधिक 409 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही प्रदेश में इस वायरस से अब तक संक्रमित पाये गये लोगों की कुल संख्या 16,036 तक पहुंच गयी। इनमें से अब तक 629 लोगों की मौत हो चुकी है
facebook twitter