+

सरकारी हॉस्पिटल की बड़ी लापरवाही, स्ट्रैचर पर ही कंकाल बन गया लावारिस शव

इंदौर के सरकारी हॉस्पिटल महाराजा यशवंतराव चिकित्सालय (एमवायएच) से दिल को झकझोर देने वाला एक मामला सामने आया है।
सरकारी हॉस्पिटल की बड़ी लापरवाही, स्ट्रैचर पर ही कंकाल बन गया लावारिस शव
इंदौर के सरकारी हॉस्पिटल महाराजा यशवंतराव चिकित्सालय (एमवायएच) से दिल को झकझोर देने वाला एक मामला सामने आया है। अस्पताल की लापरवाही की वजह से मुर्दाघर में एक लावारिस शव के स्ट्रैचर में ही सड़ जाने के कारण से शव कंकाल बन गया। 
सोशल मीडिया में इसकी तस्वीर सामने आने के बाद अस्पताल प्रबंधन ने जांच के आदेश दिये हैं। शासकीय महाराजा यशवंतराव चिकित्सालय (एमवायएच) के अधीक्षक प्रमेंद्र ठाकुर ने बुधवार को बताया, "हमने लावारिस शव सड़ने के मामले की जांच के लिये समिति बनायी है। जांच में एमवायएच का जो भी कर्मचारी दोषी पाया जायेगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी।" उन्होंने हालांकि यह नहीं बताया कि कंकाल में तब्दील हुआ शव किस व्यक्ति का है और एमवायएच के मुर्दाघर में कब पहुंचा था? 
इस बीच, पुलिस भी इस सवाल से कन्नी काटती दिखायी दे रही है। संयोगितागंज पुलिस थाने के प्रभारी राजीव त्रिपाठी ने कहा, "एमवायएच प्रबंधन ही जानकारी दे सकता है कि लावारिस शव अस्पताल के मुर्दाघर में कब और कैसे पहुंचा था?" 
उन्होंने कहा, "पिछले दिनों हमें संयोगितागंज क्षेत्र में जितने भी लावारिस शव मिले, उन सबका कानूनी औपचारिकताओं के बाद अंतिम संस्कार कर दिया गया है।" 

राज्यसभा में दिग्विजय सिंह ने कोरोना मरीजों को ऑक्सीजन की कमी का मुद्दा उठाया, स्वास्थ्य मंत्री पर साधा निशाना

facebook twitter