+

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल सिन्हा बोले- मेरा सपना जम्मू-कश्मीर को प्रतिभा का केंद्र बनाना

जम्मू विश्वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा, मुझे दृढ़ विश्वास है कि नई शिक्षा नीति का केंद्रशासित प्रदेश पर दूरगामी प्रभाव पड़ेगा। सिन्हा ने कहा, 'केवल शिक्षा से ही जम्मू कश्मीर का बेहतर भविष्य बन सकता है।
जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल सिन्हा बोले- मेरा सपना जम्मू-कश्मीर को प्रतिभा का केंद्र बनाना
जम्मू-कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने सोमवार को जोर देकर कहा कि केंद्र शासित प्रदेश को 'प्रतिभा का केंद्र' बनाना उनका सपना है। उन्होंने कहा कि शिक्षा से ही प्रदेश के युवाओं का बेहतर भविष्य बन सकता है।  राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के कार्यान्वयन पर एक सम्मेलन का उद्घाटन करते हुये उप राज्यपाल ने कहा कि जम्मू कश्मीर को न केवल प्राकृतिक सुंदरता का, बल्कि प्रतिभाशाली लोगों का भी वरदान है। 

जम्मू विश्वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा, मुझे दृढ़ विश्वास है कि नई शिक्षा नीति का केंद्रशासित प्रदेश पर दूरगामी प्रभाव पड़ेगा।  सिन्हा ने कहा, 'केवल शिक्षा से ही जम्मू कश्मीर का बेहतर भविष्य बन सकता है। युवाओं के पास ज्ञान, उद्यम एवं कौशल प्रचूर मात्रा में है इसके नाते, जम्मू-कश्मीर को प्रतिभा का केंद्र बनाना मेरा सपना है।'
 
नई शिक्षा नीति-2020 पर इस सम्मेलन का आयोजन जम्मू विश्वविद्यालय एवं उच्च शिक्षा विभाग ने संयुक्त रूप से किया था।  केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने वीडियो संदेश के माध्यम से सिन्हा को नयी नीति के कार्यान्वयन का बीड़ा उठाने के लिये बधाई दी तथा पूर्ण केन्द्रीय समर्थन का आश्वासन दिया। 

सिन्हा ने कहा कि नये एवं निर्माणाधीन कॉलेजों की स्थापना के लिये 300 करोड़ रुपये जारी किये गये हैं। उन्होंने कहा कि इसके अलावा स्कूल एवं उच्च शिक्षा क्षेत्र के लिये 2392 करोड़ रुपये जारी किये गये हैं।  उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार ने स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा के लिये 500 करोड़ रुपये की अतिरिक्त राशि जारी की है।  कोरोना महामारी के बीच, उप राज्यपाल ने विश्वविद्यालयों में महामारी विज्ञान, विषाणु विज्ञान और संक्रामक रोगों पर अनुसंधान तेज करने की तत्काल आवश्यकता पर बल दिया। 

facebook twitter