लोकसभा चुनाव के दौरान नरेंद्र मोदी की अप्रूवल रेटिंग उच्च स्तर पर बनी रही !

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व पर जनता की संतुष्टि का स्तर लोकसभा चुनाव के अंतिम दिन 19 मई को भी शीर्ष पर रहा, जैसा कि चुनाव के पहले दिन 11 अप्रैल को था। सी वोटर पोल ट्रैकर ने यह जानकारी दी।

चुनाव प्रक्रिया के सात चरणों के दौरान, मतदाताओं ने सरकार को सकारात्मक मंजूरी दी -जैसा कि विभिन्न एग्जिट पोल्स में दिख रहा है कि सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) आराम से अपने दूसरे कार्यकाल की ओर अग्रसर है।

लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के तहत 19 मई को, देशभर के 12,398 उत्तरदाताओं में से 44.94 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे सरकार से बहुत संतुष्ट हैं, वहीं 25.74 लोगों ने कहा कि वे सरकार से कुछ हद तक संतुष्ट हैं। सिर्फ 26.63 प्रतिशत लोगों ने सरकार के प्रति नाराजगी जाहिर की।

पहले चरण के तहत 11 अप्रैल को, 45.57 प्रतिशत लोगों ने कहा था कि वे सरकार से बहुत ज्यादा संतुष्ट हैं और 28.18 प्रतिशत लोग सरकार से बिल्कुल खुश नहीं थे। चुनाव के सातों चरणों के दौरान सरकार से संतुष्टि का औसत 45 के आसपास रहा।

ज्यादातर एग्जिट पोल के मुताबिक मोदी की वापसी पक्की, कुछ ने NDA को दीं 300 से ज्यादा सीटें

मतदाताओं ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व को भी हरी झंडी दिखा दी, जिसमें 49.58 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने कहा कि वे उनसे (नरेंद्र मोदी) बहुत खुश हैं। पहले चरण के तहत 11 अप्रैल को 12,000 उत्तरदाताओं में बहुत ज्यादा संतुष्ट लोगों का प्रतिशत 50.76 प्रतिशत था। मोदी और सरकार के प्रति असंतुष्टि सबसे ज्यादा केरल, तमिलनाडु और पंजाब में है।

Download our app