+

नेपाल में कुदरत का कहर, भूस्खलन से 22 लोगों की मौत

नेपाल में कुदरत का कहर, भूस्खलन से 22 लोगों की मौत
दुनियाभर में कोरोना का कोहराम जारी है। इस बीच, कुदरत का कोहराम भी जारी है। नेपाल में पिछले 24 घंटे से लगातार हो रही बारिश के बाद हुए कई भूस्खलनों में मरने वालों की संख्या बढ़कर 22 हो गयी है। गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। भूस्खलन से तीन बच्चों समेत सात लोगों की जान चली गयी। पुलिस ने बताया कि कास्की जिले में सात लोगों की भूस्खलन के कारण जान चली गयी जिनमें पांच लोग पोखरा शहर में सारंगकोट इलाके में भूस्खलन से एक घर जमींदोज हो जाने से मारे गये।

पुलिस ने बताया कि इसी हादसे में करीब 10 लोग घायल भी हो गए और अलग-अलग अस्पतालों में उनका इलाज जारी है। उन्होंने बताया कि बृहस्पतिवार रात को दो अलग-अलग स्थानों पर भूस्खलन हुए। लामजुंग जिले के वेसीशहर में भूस्खलन होने से एक ही परिवार के तीन लोगों की जान चली गई। वहीं रुकुम जिले के आठबिसकोट में दो अन्य लोगों की मौत हो गयी। म्याग्दी जिले में भूस्खलन में तीन लोगों की जान चली गयी।

मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि इस बीच, जाजरकोट जिले में भूस्खलन के दौरान लापता हो गये 12 लोगों में से सात लोगों के शव मिल गये हैं जिनमें 10 साल का एक बच्चा भी शामिल है। म्याग्दी जिले में भी सात लोग लापता हैं। उनका घर भी भूस्खलन में बह गया था। इस बीच जोगीमारा क्षेत्र में हुए एक भूस्खलन से पश्चिमी नेपाल में पृथी राजमार्ग बाधित हो गया। देश में पिछले 48 घंटे से लगातार हो रही बारिश के कारण नारायणी और अन्य प्रमुख नदियां उफान पर हैं। मौसम विज्ञान विभाग ने अगले तीन दिन तक मानसून की बारिश जारी रहने का पूर्वानुमान जताया है।






facebook twitter