+

NDA के पास समृद्ध विरासत के नाम पर कुछ भी नहीं : रविशंकर

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को जानी मानी लेखिका डॉ. कृष्णा सक्सेना की पुस्तक ‘ए बुके आफ फ्लावर्स’ का लोकार्पण किया।
NDA के पास समृद्ध विरासत के नाम पर कुछ भी नहीं : रविशंकर
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को जानी मानी लेखिका डॉ. कृष्णा सक्सेना की पुस्तक ‘ए बुके आफ फ्लावर्स’ का लोकार्पण किया। 
अंग्रेजी की वरिष्ठ प्रोफेसर डॉ. कृष्णा की यह नौवीं पुस्तक है। वे वर्ष 1955 में लखनऊ से पीएचडी करने वाली पहली महिला हैं। 
श्री सिंह ने इस अवसर पर कहा, ‘‘हम अक्सर सुनते हैं कि सीखने और लिखने की कोई उम, नहीं होती है और डा सक्सेना ने इस कहावत को शब्द और भाव में चरितार्थ किया है। उन्होने साबित कर दिया है कि उम, तो सिर्फ़ एक आंकड़ है। मैं उनकी पुस्तक में पूरे विश्वास के साथ कह सकता हूं कि इसमें तीन पीढ़यों के नैतिक मूल्य हैं जो आज भी प्रासंगिक हैं।’’ पुस्तक के बारे में डॉ। सक्सेना कहती हैं, ‘‘ यह पुस्तक की संरचना ऐसी है कि पाठक खुद अपना सफर तय करने और और निजी अहसास तक पहुंचने और इससे प्रेरणा पाने के लिए उत्साहित होते हैं। मुझे विश्वास है कि पाठक पुस्तक का आनंद लेंगे और खुद को इससे जोड़ पाएंगे।’’
facebook twitter