+

देश की जमीं से जुड़ी है देश की नयी शिक्षा नीति, सभी वर्गों ने किया स्वागत: जेपी नड्डा

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने मंगलवार को कहा कि नयी शिक्षा नीति देश की जमीं से जुड़ी हुई है और समाज के सभी वर्गों ने इसका स्वागत किया है।
देश की जमीं से जुड़ी है देश की नयी शिक्षा नीति, सभी वर्गों ने किया स्वागत: जेपी नड्डा
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने मंगलवार को कहा कि नयी शिक्षा नीति देश की जमीं से जुड़ी हुई है और समाज के सभी वर्गों ने इसका स्वागत किया है। वह यहां के एक निजी विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह को वीडियो कान्फ्रेंस के जरिए संबोधित कर रहे थे। 
केंद्र सरकार की नयी शिक्षा नीति का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा,‘‘ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2020 में जो राष्ट्रीय शिक्षा नीति बनाई है, वह भारत के मूल धरती से जुड़ी हुई शिक्षा नीति है।’’ 
उन्होंने कहा कि ढाई से तीन लाख विचार, सुझाव लेने के बाद और उनको सम्माहित करने के बाद यह नयी शिक्षा नीति बनी है जिसको समाज के सभी वर्गों ने ठीक से माना भी है, सराहा भी है और इसका स्वागत भी किया है। 
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति- 2020 का आने वाली पीढ़ी लाभ उठायेगी। नयी शिक्षा नीति में शिक्षा सबकी पहुंच में हो, सबको उपलब्ध हो तथा यह लचीली हो पर ध्यान केंद्रित किया गया है। 
उन्होंने कहा,‘‘शिक्षा समाज के उन लोगों के जीवन में खुशी लाने के लिये है, जिन्होंने शिक्षा ग्रहण करने के दौरान अहम भूमिका निभाई है।’’ 
नड्डा ने कहा,‘‘शिक्षा रटने रटाने की चीज नहीं है। हम सब लोग परीक्षा से पहले सारी चीजें याद कर लेते हैं और विश्वविद्यालय के परीक्षा हॉल में जाकर उसको लिख डालते हैं और हम सोचते है कि हम बहुत अच्छे छात्र है...रटने रटाने का जमाना चला गया अब जमाना है ‘एप्लीकेशन’ का, ‘कांसेप्ट’ का है।’’ 
उन्होंने कहा कि भारत हमेशा विश्वगुरु रहा है भारत ने दुनिया को शिक्षा दी है। नालंदा, तक्षशिला इसके उदाहरण है। विश्वविद्यालय का शब्द नालंदा के साथ तब से जुड़ा है। 
facebook twitter instagram