+

केमिस्ट हत्याकांड में जांच अभी औपचारिक रूप से एनआईए ने अपने हाथ में नहीं ली है : पुलिस

महाराष्ट्र के अमरावती शहर में हुई केमिस्ट उमेश कोल्हे की हत्या मामले की जांच राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने अभी औपचारिक रूप से अपने हाथ में नहीं ली है। एक शीर्ष अधिकारी ने रविवार को यहां यह जानकारी दी।
केमिस्ट हत्याकांड में जांच अभी औपचारिक रूप से एनआईए ने अपने हाथ में नहीं ली है : पुलिस
महाराष्ट्र के अमरावती शहर में हुई केमिस्ट उमेश कोल्हे की हत्या मामले की जांच राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने अभी औपचारिक रूप से अपने हाथ में नहीं ली है। एक शीर्ष अधिकारी ने रविवार को यहां यह जानकारी दी।
एनआईए को सौंपे जाने का कोई आदेश हमें प्राप्त नही हुआ -   आरती सिंह 
पुलिस आयुक्त डॉ. आरती सिंह की संकल्पना प्रशंसनीय - Mandal News
कोल्हे (54) की हत्या के मामले में शनिवार को अमरावती पुलिस की अपराध शाखा ने स्थानीय निवासी इरफान खान (32) को नागपुर से गिरफ्तार किया था। यह इस मामले में सातवीं गिरफ्तारी है। अमरावती की पुलिस आयुक्त डॉ आरती सिंह ने  समाचार एजेंसी से कहा, ‘‘ मामले की जांच एनआईए को सौंपे जाने के संबंध में अब तक हमें कोई आदेश प्राप्त नहीं हुआ है। सोमवार तक हमें आदेश प्राप्त हो जाएगा, जिसके बाद हम जांच को औपचारिक रूप से केंद्रीय एजेंसी को सौंप देंगे क्योंकि प्रक्रियात्मक औपचारिकताओं में कुछ समय लगता है।’’
पुलिस ने मुख्य षडयंत्रकारी इरफान खान को किया गिरफ्तार , 14 दिन की हिरासत में आरोपी
एनआईए ने केमिस्ट हत्याकांड मामले की जांच के संबंध में शनिवार को अमरावती का दौरा किया था, जिसके एक दिन बाद सिंह का बयान आया है। पुलिस ने शुरुआत में कहा था कि केमिस्ट की हत्या का संबंध भाजपा की निलंबित नेता नुपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पोस्ट से हो सकता है। एनएआई की एक टीम ने रविवार सुबह शहर कोतवाली थाने में खान से पूछताछ की। अमरावती की एक अदालत ने रविवार को केमिस्ट उमेश कोल्हे की हत्या मामले में कथित ‘‘मुख्य षड्यंत्रकारी’’ इरफान खान को सात जुलाई तक पुलिस हिरासत में भेज दिया।
पुलिस के मुताबिक, खान ने कथित तौर पर अमरावती में एक मेडिकल स्टोर चलाने वाले उमेश प्रह्लादराव कोल्हे (54) की हत्या की साजिश रची थी और अन्य लोगों को इसमें शामिल किया था। अमरावती के श्याम चौक क्षेत्र के घंटाघर के पास 21 जून की रात करीब साढ़े 10 बजे उमेश की चाकू मारकर हत्या कर दी गई थी। केंद्रीय गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्वीट करके जानकारी दी थी कि मामले की जांच एनआईए को सौंप दी गयी है।
 
facebook twitter instagram