नितिन गडकरी बोले- वित्त मंत्री के बयान को तोड़मरोड़ कर पेश किया गया

ऑटो सेक्टर में मंदी पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बयान की सोशल मीडिया पर काफी आलोचना हो रही है। वित्त मंत्री ने कहा था कि ओला और ऊबर जैसी कंपनियों के कारण ऑटो सेक्टर में मंदी आ गई है। निर्मला का बचाव करते हुए केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि वित्त मंत्री के बयान को तोड़मरोड़ कर पेश किया गया गडकरी बताते हुए बुधवार को कहा कि ‘स्क्रैपिंग’ नीति को जल्द ही अंतिम दे दिया जायेगा। 

गडकरी ने यहां हौंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया के एक्टिवा 125 के बीएस 6 के अनुरुप नया स्कूटर लांच करने के मौके पर कहा कि आटोमोबाइल क्षेत्र में मंदी के लिए बहुत से कारण हैं। वित्त मंत्री ने कल एक बयान दिया था जिसमें कहा गया था कि लोगों के ऐप आधारित ओला और उबर जैसी कैब सेवाओं की तरफ मुखातिब होने से आटोमोबाइल क्षेत्र में मंदी आई है। 

मोदी पर ओवैसी ने साधा निशाना, कहा- जब गाय के नाम पर लोग मारे जाते हैं, तब PM के कान खड़े होने चाहिए

सीतारमण के इस बयान की तीखी आलोचना हो रही है। देश के वाहन निर्माताओं के संगठन(सियाम) के अगस्त 2019 के आंकड़ के अनुसार वाहन बिक्री में पिछले करीब दो दशक की सर्वाधिक गिरावट दर्ज की गई है। श्री गडकरी ने कहा ई रिक्शा की तरफ झुकाव से आटो रिक्शा की बिक्री कम हुई। इसके अलावा देश भर में सार्वजनिक परिवहन प्रणाली में सुधार का भी असर हुआ है। उन्होंने आगे स्पष्ट करते हुए कहा वित्त मंत्री का कहना है,‘‘ मंदी के बहुत से कारण है और ओला, उबर उनमें से एक वजह है।’’ 

आटोमोबाइल उद्योग ने क्षेत्र के फिर से रफ्तार पकड़ने में सहयोग के लिए सरकार के समक्ष कई मांगे रखीं हैं जिनमें वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) में दस प्रतिशत तक कमी शामिल है। श्री गडकरी ने कहा कि जीएसटी में कमी करने का फैसला जीएसटी परिषद लेगी। उन्होंने कहा,‘‘ वित्त मंत्री से इस संबंध में बात की है और वह इस पर राज्य सरकारों से विचार विमर्श कर निर्णय लेंगी। जहां तक जीएसटी दर में कमी करने का सवाल है यह मुद्दा वित्त मंत्रालय को जीएसटी परिषद में उठाना है।’’ 

श्री गडकरी ने ऑटो उद्योग के लिए पैकेज में शामिल पुराने वाहनों को नष्ट करने की नीति पर कहा कि सरकार ने पुराने दुपहिया और कारों को खत्म करने पर उद्यमियों के सुझावों का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि इससे जुड़ पक्षों की तरफ से हो रही देरी से कुछ समस्या है। सड़क परिवहन मंत्रालय वित्त मंत्रालय के साथ मिल कर ‘स्क्रैपिंग ’ नीति को अंतिम रुप देने में जुटा हुआ है और इसकी जल्दी ही घोषणा कर दी जायेगी। श्री गडकरी ने कहा, ‘‘ वाहन उद्योग में रोजगार की बहुत संभावनाएं हैं और वर्तमान समय संक्रमण अवधि है जिसमें इधर और उधर कुछ समस्याएं हैं।
Tags : Narendra Modi,कांग्रेस,Congress,नरेंद्र मोदी,राहुल गांधी,Rahul Gandhi,punjabkesri ,Nitin Gadkari,Finance Minister