शाहीन बाग में नहीं निकला कोई हल, महिलाएं वार्ताकारों की बात से नाखुश

01:55 AM Feb 21, 2020 | Shera Rajput
सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त वातार्कारों ने लगातार दूसरे दिन गुरुवार को शाहीनबाग की प्रदर्शनकारी महिलाओं से मुलाकात की, बात की, मगर उनके जाने के बाद वे खुश नजर नहीं आईं। 

वार्ताकारों में से एक साधना रामचंद्रन के यह कहने पर कि 'शुक्रवार को हम 10-15 महिलाओं से अलग में बात करेंगे, इस तरह खुले मंच से बातचीत नहीं हो सकती। आप ही जगह चुनिए और 10-10 का ग्रुप बना लीजिए, ताकि बात कर हम कोई हल निकाल सकें', शाहीनबाग की महिलाओं ने नाराजगी जताई। 

एक प्रदर्शनकारी महिला ने कहा, 'ये लोग सीएए या एनआरसी पर बात करने नहीं आए हैं, ये सिर्फ सड़क खुलवाने आए हैं। इन्हें हमारी परेशानी से कोई मतलब नहीं है। साधनाजी कहती हैं कि ग्रुप में बात करो! हम क्या बात करेंगे ग्रुप में? 10 महिलाएं जाएंगी और वहां सिर्फ एक बोलेगी, बाकियों के दिल की बात दिल में ही रह जाएगी।' 

महिला ने आगे कहा, 'हम तो पहले से ही बोल रहे हैं पुलिस ने जो सड़क बंद कर रखी है, उसे खोली जाए।'
 
वकील साधना रामचंद्रन ने आंदोलकारियों को चेताया कि अगर बात नहीं बनी तो मामला फिर सुप्रीम कोर्ट में जाएगा। तब सरकार जो चाहेगी, करेगी। 

Related Stories: