+

एनएसयूआई के सदस्यों ने किया बिहार विधानसभा का घेराव

पटना, (पंजाब केसरी) : भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन एनएसयूआई के बिहार प्रदेश के अध्यक्ष शशि कुमार चुन्नू सिंह के नेतृत्व में देश मे बढ़ती बेरोजगारी, बेलगाम महंगाई, घूसखोरी, अपराध और उच्च शिक्षा में लगातार गिरावट को लेकर बिहार विधानसभा का घेराव किया गया।
एनएसयूआई के सदस्यों ने किया बिहार विधानसभा का घेराव
पटना, (पंजाब केसरी) : भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) के बिहार प्रदेश के अध्यक्ष शशि कुमार चुन्नू सिंह के नेतृत्व में देश मे बढ़ती बेरोजगारी, बेलगाम महंगाई, घूसखोरी, अपराध और उच्च शिक्षा में लगातार गिरावट को लेकर बिहार विधानसभा का घेराव किया गया। छात्र आन्दोलन को सम्बोधित करते हुए बिहार एनएसयूआई  के अध्यक्ष चुन्नू सिंह ने कहा कि जिस तरह से सरकार शिक्षा को बंटाधार करने पर तुली हुई है। 
इससे विकसित राज्य की कल्पना करना बईमानी है। आज आए दिन प्रायः जिस तरह परीक्षा प्रश्न पत्र परीक्षा शुरू होने के पहले लीक हो जा रहे है। यह उसकी शासन प्रशासन की व्यवस्था को तार तार करने के लिए पर्याप्त है। प्रदेश में नवजवानों को रोजगार देने के बजाय हर क्षण रोजगार छीने जा रहे है। भ्रष्टाचार चरम पर है तो अपराध रोज नया रिकॉर्ड बना रहा है। प्रशासनिक मनमानी से पूरा राज्य त्रस्त है। छात्रों का काफिला कारगिल चौक, गांधी मैदान से प्रारंभ हुआ वे अपनी मुद्दों को लेकर विधानसभा एवं सरकार तक रखना चाहते थे, परंतु भारी संख्या में पुलिस बल के द्वारा बिस्कोमान चौराहे पर ही छात्रों के जत्थों को बैरकेटिंग लगाकर रोकने का प्रयास किया गया। शांतिपूर्वक आंदोलन कर रहे छात्रों का कहना था कि वे अपनी ज्वलंत मुद्दे सरकार के समक्ष रखना चाहते हैं, ताकि वर्तमान विधान सभा सत्र इस मुद्दे पर सरकार के द्वारा ठोस कदम उठाया जा सके। इसके लिए छात्र विधान सभा जाना चाहते थे। 
पुलिस ने उनपर बर्बरतापूर्वक लाठी चार्ज किया, जिसमें पूरे बिहार प्रदेश से आए दर्जनों छात्र गंभीर रूप से घायल हुए और उनके आवाजों को सरकार के द्वारा दबाने का प्रयास किया गया। घायलों में बिहार प्रदेश युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष कुमार आशीष, पूर्व विधायक अमित कुमार टुन्ना, ए.आई.सी.सी.सदस्य प्रवीण सिंह कुशवाहा, एन.एस.यू.आई. के प्रदेश अध्यक्ष चुन्नू सिंह, राष्ट्रीय संयोजक प्रशांत ओझा, छात्र नेता लाला कुमार राय, आलोक, निशांत, आमिर, रजत कश्यप, तौकीर, अमन रजा, शाश्वत, आदित्य कुमार सिल्टू,मानसी, निशांत यादव, रंजन ओझा आदि प्रमुख थे। 
लाठी चार्ज की जानकारी मिलते ही बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष डा.मदन मोहन झा ने विधान सभा का सत्र छोड़ शीघ्र ही मौके पर पहुंच कर छात्रों का कुशल क्षेम पूछा एवं चिकित्सा मुहैया कराया और उन्होंने इस घटना की कड़ी निन्दा करते हुए कहा कि राज्य एवं केन्द्र सरकार छात्र विरोधी सरकार है,लाठी के दम पर ये एन.डी.ए. सरकार छात्र की आवाज को नहीं दबा सकती। प्रदेश कांग्रेस छात्रों के साथ एवं छात्रों के हित के लिए सड़क से सदन तक लड़ाई लड़ेगी।

facebook twitter instagram