+

अर्जुन अवॉर्ड के लिए नामित होने पर हॉकी टीम के उपकप्तान हरमनप्रीत ने कहा- अवॉर्ड के लिए नामित होना गर्व की बात

अर्जुन अवॉर्ड के लिए नामित होने पर हॉकी टीम के उपकप्तान हरमनप्रीत ने कहा- अवॉर्ड के लिए नामित होना गर्व की बात
भारतीय पुरुष हॉकी टीम के डिफेंडर हरमनप्रीत सिंह ने अर्जुन अवॉर्ड के लिए उन्हें नामित करने पर खुशी जाहिर करते हुए कहा है कि यह उनके लिए काफी सुखद अनुभव है। 24 वर्षीय हरमनप्रीत ने कहा, ‘‘इस खबर को सुनना मेरे लिए बेहद सुखद है। अर्जुन अवॉर्ड के लिए नामित होना गर्व की बात है और मुझे यकीन है कि इससे मुझे आने वाले समय में और भी अच्छा प्रदर्शन करने की प्रेरणा मिलेगी।

उन्होंने कहा, ‘‘हम सभी को पिछले कई वर्षों से हॉकी इंडिया का भरपूर सहयोग मिला है और मुझे जानकर खुशी है कि रानी को राजीव गांधी खेल रत्न और वंदना तथा मोनिका को अर्जुन अवॉर्ड के लिए नामित किया गया है। इन लोगों ने पिछले कुछ समय में शानदार प्रदर्शन किया है और मैं इन्हें बधाई देना चाहता हूं। हरमनप्रीत डिफेंडर होने के साथ ही टीम के उपकप्तान भी है। उन्होंने एफआईएच सीरीज फाइनल्स में बेहतरीन प्रदर्शन किया था। टोक्यो ओलंपिक टेस्ट इवेंट में मनप्रीत सिंह की अनुपस्थिति में उन्होंने टीम की कमान संभाली थी। 

हरमनप्रीत पिछले साल रूस के खिलाफ हॉकी ओलंपिक क्वालीफायर्स मुकाबले में भी टीम का हिस्सा थे। उन्होंने कहा कि उन्हें टीम के साथी खिलाड़यों का हमेशा समर्थन मिलता है जिस कारण वह बेहतर प्रदर्शन कर पाते हैं। हरमनप्रीत ने कहा, ‘‘मैंने जिस तरह से पिछले कुछ वर्षों में अपनी टीम के लिए योगदान दिया है उससे मैं बहुत खुश हूं। हालांकि मैं ऐसा इसलिए कर पाया क्योंकि टीम के साथी खिलाड़यों ने मेरा हमेशा साथ दिया है। हॉकी टीम का खेल है और हम सभी को यह सुनिश्चित करना है कि सभी टीम की जीत में अपना योगदान देने कोशिश करें। अगर कोई गोल करता है तो इसका मतलब यह नहीं कि व्यक्तिगत तौर पर उसने गोल किया है, इसका श्रेय पूरी टीम को जाता है।

उन्होंने बताया कि टोक्यो ओलंपिक के लिए कोटा हासिल करना 2019 में टीम का सबसे बड़ उपलब्धि है। उन्होंने कहा, ‘‘पिछले साल अपनी घरेलू जमीन पर टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करना बेहद सुखद था। यह पल हमेशा मेरे लिए यादगार रहेगा। हमारी टीम का संतुलन बेहतरीन है। हरमनप्रीत ने कहा, ‘‘अब टीम में सभी का ध्यान अगले साल होने वाले ओलंपिक में बेहतर प्रदर्शन करने पर केंद्रित है। इस वक्त यह हमारा एकमात्र लक्ष्य है और हम सभी इस चुनौती के लिए तैयार हैं। मैं उम्मीद करता हूं कि जब हम टोक्यो में अपना पहला मुकाबला खेले तो हम बेहतर टीमों में से एक रहें।

facebook twitter