बेटियों के खिलाफ FIRदर्ज होने पर मुनव्वर राना बोले- मुझ पर दर्ज करो मुकदमा, मैंने ऐसी बागी बेटियां पैदा की

शायर मुनव्वर राना ने संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता पंजी (एनआरसी) के खिलाफ प्रदर्शन कर निषेधाज्ञा के उल्लंघन के आरोप में अपनी बेटियों पर मुकदमा दर्ज किये जाने की कड़ी आलोचना करते हुए इस सिलसिले में मंगलवार को गृहमंत्री अमित शाह की लखनऊ में हुई रैली पर सवाल उठाये हैं। 

राना ने कहा है कि पुलिस ने उनकी बेटियों सुमैया और फौजिया पर धारा 144 के तहत लागू निषेधाज्ञा तोड़ने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया। मगर वह ये भी बताए कि इसी निषेधाज्ञा की धज्जियां उड़ाकर आज लखनऊ में रैली करने वाले गृह मंत्री अमित शाह पर कब मुकदमा होगा। 

कोर्ट ने चंद्रशेखर आजाद की जमानत शर्तों में बदलाव कर चिकित्सा, चुनावी कारणों से दिल्ली आने की इजाजत दी

उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तान अगर राम, नानक और चिश्ती का मुल्क है तो शाह के खिलाफ भी मुकदमा होना चाहिये। तब हम समझेंगे कि हमारी सरकार और पुलिस इंसाफ कर रही है। राना ने कहा कि अगर सरकार की नजर में शाह का रैली करना जायज है तो जाहिर है कि पुलिस की कार्रवाई सीएए और एनआरसी का विरोध कर रही उनकी बेटियों और तमाम मुल्जिम महिलाओं तथा लड़कियों के साथ नाइंसाफी है। 

उन्होंने कहा कि यह तो वही हुआ कि जब किसी शहर में कोई 'शाह' आता है तो फकीरों के बेटे-बेटियां बंद कर दिये जाते हैं। राना ने कहा कि उन्होंने अपनी बेटियों से कहा है कि मुकदमे से डरने की कोई जरूरत नहीं है। ''कबीले में हमारे चाहे नींद हो या मौत, वह मकतल (वध स्थान) में आती है, कबीले में हमारे कोई आंगन में नहीं मरता।'' मालूम हो कि गृह मंत्री अमित शाह ने सीएए के समर्थन में मंगलवार को लखनऊ में एक रैली को सम्बोधित किया था। 

इसके पूर्व, सोमवार को राना की बेटियों सुमैया और फौजिया समेत करीब 160 महिलाओं और लड़कियों पर सीएए के खिलाफ घंटाघर पर प्रदर्शन करके निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने का मुकदमा दर्ज किया गया था। धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा के अन्तर्गत एक स्थान पर तीन से ज्यादा लोगों के एकत्र होने पर पाबंदी होती है। 
Tags : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,Prime Minister Narendra Modi,कर्नाटक विधानसभा चुनाव,Karnataka assembly elections,यशवंतरपुर सीट,Yashvantpur seat ,daughters,Shair Munawwar Rana,Amit Shah,Munawar Rana,rally,protest,Lucknow,CAANRC