+

बिहार चुनाव के घोषणा पत्र में BJP ने किया मुफ्त कोरोना वैक्सीन का वादा, विपक्ष हुआ हमलावर

बिहार चुनाव के घोषणा पत्र में BJP ने प्रत्येक बिहारवासी के लिए मुफ्त कोरोना वैक्सीन का वादा किया है। पार्टी के इस चुनावी वादे पर विपक्ष ने बीजेपी पर जमकर हमला किया।
बिहार चुनाव के घोषणा पत्र में BJP ने किया मुफ्त कोरोना वैक्सीन का वादा, विपक्ष हुआ हमलावर
बिहार चुनाव में मतदाताओं को साधने के लिए विभिन्न राजनीतिक दलों ने अपने-अपने घोषणा पत्र जारी कर दिया है। घोषणा पत्र में पार्टियों ने कोई बड़े-बड़े वादे किए है। इसी चरण में भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने भी आज अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी किया। पार्टी ने अपने वादों में बिहारवासियों के लिए मुफ्त कोरोना का ठीके की बात कही। इसको लेकर बीजेपी सम्पूर्ण विपक्ष के निशाने पर आ गई।
कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘‘ मोदी सरकार ने तो कोरोना वायरस की वैक्सीन नही ढूँढी, पर बिहार की जनता ने.....बिहार बचाने की ‘वैक्सीन’ ज़रूर ढूँढ ली है।’’ उन्होंने कहा ‘‘यह वैक्सीन है.... जदयू-बीजेपी भगाओ, महागठबंधन सरकार लाओ।’’
विपक्षी राजद ने बीजेपी के वादे पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया, ‘‘कोरोना वायरस का टीका देश का है, भाजपा का नहीं।’’ राजद ने कहा, ‘‘टीके का राजनीतिक इस्तेमाल दिखाता है कि इनके पास बीमारी और मौत का भय बेचने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। बिहारी लोग स्वाभिमानी हैं, चंद पैसों में अपने बच्चों का भविष्य नहीं बेचते।’’ 
वहीं, नेशनल कांफ्रेस के नेता उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया कि क्या बीजेपी इन टीकों के लिए भुगतान पार्टी के खजाने से करेगी? अब्दुल्ला ने कहा कि अगर यह सरकार के खजाने से आ रहा है तब बिहार को नि:शुल्क टीका कैसे मिला क्योंकि देश के शेष हिस्से को इसके लिए भुगतान करना ही होगा। उन्होंने आरोप लगाया कि लोक-लुभावन बातों के जरिए शर्मनाक तरीके से कोविड-19 के भय का दोहन किया जा रहा है। 
उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर एक मिनट की भी लापरवाही महामारी को बढ़ा सकती है इसलिए जब तक टीका नहीं तैयार होता, तब तक मास्क लगाना बेहद जरूरी है। टीका उत्पादन का जिक्र करते हुए सीतारमण ने कहा, ‘‘हमारे पास सूचना आ रही है कि कई देश टीका बनाने की कोशिश कर रहे हैं। रूस कोशिश कर रहा है, चीन कोशिश कर रहा है, और भी देश हैं।’’ 
उन्होंने कहा, ‘‘मैं विश्वास के साथ बोलना चाहती हूं कि भारत में बायो फार्मा उद्योग की क्षमता पिछले 20 वर्षों में काफी बढ़ गई है और कम से कम चार टीके के उत्पादन की ओर कदम जा रहे हैं।’’ वित्त मंत्री ने कहा कि इसमें ट्रायल के तीन चरण होते हैं जिसमें पहले जानवर पर, फिर प्रयोगशाला में और इसके बाद मनुष्य पर परीक्षण होता है। उन्होंने कहा कि अंतिम चरण में 3 टीके उत्पादन के कगार पर आ गए हैं। 
केंद्रीय मंत्री ने कहा ‘‘जैसे ही वैज्ञानिक बोल देंगे कि उत्पादन अब किया जा सकता है ... तब हम बड़े पैमाने पर उत्पादन करने के लिये तैयार हैं।’’ उन्होंने कहा ‘‘जब वैज्ञानिक मंजूरी देते हैं और इसका उत्पादन उस स्तर पर होगा जिसके बारे में हमने वादा किया है, तब हम बिहार के लोगों को नि:शुल्क टीका उपलब्ध करायेंगे।’’ 
बीजेपी ने अपने संकल्प पत्र में कहा है ‘‘ कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में बिहार की राजग सरकार ने देश के सामने मिसाल रखी है। बीजेपी का संकल्प है कि जैसे ही कोरोना वायरस का टीका आई.सी.एम.आर. द्वारा स्वीकृति के बाद उपलब्ध होगा, हम बिहारवासियों का नि:शुल्क टीकाकरण करवाएंगे।’’ 
facebook twitter instagram