पाकिस्तान के दो शहरों में स्कूली छात्राओं के लिए बुर्का अनिवार्य करने संबंधी आदेश रद्द

पाकिस्तान के दो बड़े पश्चिमोत्तर शहरों में स्कूली छात्राओं के लिए बुर्का पहनना अनिवार्य करने को लेकर हुए व्यापक विरोध के बाद शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने यह आदेश रद्द कर दिया है। जिला शिक्षा अधिकारियों ने खैबर पख्तूनख्वा प्रांत की राजधानी पेशावर और एक अन्य शहर हरिपुर में पिछले सप्ताह निर्देश जारी किए थे कि लड़कियों को ‘‘किसी प्रकार की अनैतिक दुर्घटना से स्वयं को बचाने के लिए’’ खुद को पूरी तरह ढक कर आना होगा। 

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में हिंदू मेडिकल छात्रा की मौत के विरोध में लोगों ने किया प्रदर्शन

इस फैसले की राष्ट्रीय स्तर पर कड़ी निंदा हुई और सोशल मीडिया यूजर्स एवं महिला अधिकार कार्यकर्ताओं ने इसे पुरुष प्रधान देश में महिलाओं के अधिकारों पर एक और प्रतिबंध बताया। इसके बाद प्राधिकारियों ने मंगलवार को जारी एक नए आदेश में कहा, ‘‘निर्देशों को वापस लिया जाता है।’’ 

पाकिस्तानी महिला अधिकार कार्यकर्ता ताहिरा अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘जब दुनिया अपने बच्चों की शिक्षा, सुरक्षा और विकास के साथ आगे बढ़ रही है, ऐसे में पाकिस्तान निश्चित ही पीछे की ओर जा रहा है।’’ 

हालांकि क्षेत्र में कुछ लोगों ने प्राधिकारियों का समर्थन किया है। एक प्रांतीय विधायक सिराजुद्दीन खान ने चेतावनी दी कि उनकी कट्टरपंथी जमात-ए-इस्लामी पार्टी विरोध करेगी और ‘‘सरकार पर दबाव बनाएगी कि वह पूरे प्रांत में यह आदेश लागू करे।’’ 

Tags : Railway Board,Punjab Kesari,हाजीपुर,Hajipur,246 Water Vending Machines ,schoolgirls,cities,Pakistan,protests,education department officials