+

स्टोक्स और सैमसन के सामने हमारे गेंदबाजों के पास ज्यादा विकल्प थे नहीं : हार्दिक पांड्या

हार्दिक पांड्या ने कहा कि बेन स्टोक्स और संजु सैमसन की आक्रामक बल्लेबाजी के सामने उनके गेंदबाजों के पास ज्यादा विकल्प नहीं थे।
स्टोक्स और सैमसन के सामने हमारे गेंदबाजों के पास ज्यादा विकल्प थे नहीं : हार्दिक पांड्या
मुंबई इंडियन्स के आलराउंडर हार्दिक पांड्या ने कहा कि राजस्थान रॉयल्स के बेन स्टोक्स और संजु सैमसन की आक्रामक बल्लेबाजी के सामने उनके गेंदबाजों के पास ज्यादा विकल्प नहीं थे। पांड्या के 21 गेंदों पर नाबाद 60 रन की मदद से मुंबई ने 5 विकेट पर 195 रन बनाए लेकिन स्टोक्स (नाबाद 107) और सैमसन (नाबाद 54) ने तीसरे विकेट के लिए 152 रन की अटूट साझेदारी करके राजस्थान को 8 विकेट से जीत दिलाई।
पांड्या ने मैच के बाद कहा, ‘‘कई बार आपको विरोधी टीम को भी श्रेय देना चाहिए और मुझे लगता है कि उन्होंने वास्तव में बहुत अच्छी बल्लेबाजी की। हमारे गेंदबाजों के पास करने के लिए कुछ खास नहीं था। उनका कौशल और उस कौशल का अच्छी तरह से उपयोग करना उनके (राजस्थान के बल्लेबाजों) पक्ष में गया। बल्लेबाजी में वे आज हमसे बेहतर थे।’’
बड़ौदा के इस खिलाड़ी ने अपनी पारी में 7 छक्के और 2 चौके लगाए। उन्होंने कहा कि उनकी टीम ने पर्याप्त स्कोर बनाया था लेकिन राजस्थान अगर लक्ष्य को सफलतापूर्वक हासिल कर पाया तो इसका श्रेय स्टोक्स और सैमसन को जाता। पांड्या ने कहा, छक्के जड़ने में आनंद आता है। मुझे लगता है कि हमने पर्याप्त स्कोर बनाया था। शुरू में जब दूसरी बार टाइम आउट लिया गया था तो हम 165-170 तक स्कोर पहुंचाने के बारे में सोच रहे थे। 
निश्चित तौर पर हमने 25 रन अधिक बनाए  थे और हमें लग रहा था कि यह पर्याप्त था लेकिन स्टोक्स और संजू को श्रेय जाता है। उन्होंने बहुत अच्छी बल्लेबाजी की। इस हार के बावजूद मुंबई 14 अंक लेकर तालिका में शीर्ष पर है और पांड्या ने कहा कि टीम शीर्ष 2 में स्थान हासिल करने पर ध्यान दे रही है। उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि इस मैच से हमें अपनी गलतियों में सुधार करना चाहिए। हमें अपने सकारात्मक पहलुओं पर ध्यान देना चाहिए। हम अब भी शीर्ष पर हैं। हमें शीर्ष 2 में जगह बनाने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। 
facebook twitter instagram