आदिवासी समाज के कल्याण के लिए समर्पित भाव से काम कर रही है हमारी सरकार : अशोक गहलोत

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को कहा कि उनकी सरकार आदिवासी समाज के कल्याण के लिए समर्पित भाव से काम कर रही है। इसके साथ ही उन्होंने आदिवासियों से अपील की है कि वे अपनी भावी पीढ़ी को शिक्षित बनाने का संकल्प लें। 

विश्व आदिवासी दिवस पर अपने संदेश में गहलोत ने ट्वीट किया, "हमारी सरकार आदिवासी समाज के कल्याण के लिए समर्पित भाव से काम कर रही है। उन्हें समाज की मुख्यधारा से जोड़ने के साथ ही उनकी सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित रखने के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं।" 


गहलोत के अनुसार, हमने अंतर्राष्ट्रीय आदिवासी दिवस के महत्व को समझते हुए इस दिन ऐच्छिक अवकाश घोषित किया है। उन्होंने आदिवासी बहुल क्षेत्र में माही और जाखम जैसी बड़ी सिंचाई परियोजनाओं का जिक्र करते हुए कहा है ये योजनाएं हमारी पिछली सरकारों की देन है जिससे आदिवासी किसानों के जीवन में खुशहाली आई है। 

इसके साथ ही उन्होंने आदिवासी समुदाय से शिक्षा पर ध्यान देने की अपील की और लिखा, "इस अवसर पर आदिवासी भाई अपनी भावी पीढ़ी को शिक्षित बनाने का संकल्प लें ताकि वे देश एवं प्रदेश के विकास में और अधिक सक्रिय भागीदारी निभा सकें।" 

गहलोत ने कहा कि हमारे प्रदेश के आदिवासी भाइयों ने आजादी के आंदोलन में महत्वपूर्ण योगदान देने के साथ ही अपनी मूल संस्कृति को संरक्षित रखने में महती भूमिका निभाई है। आज वे हर क्षेत्र में अपनी क्षमता, योग्यता का उल्लेखनीय प्रदर्शन कर रहे हैं। विश्व आदिवासी दिवस पर राजस्थान भर में कई कार्यक्रम हुए। 


मुख्य कार्यक्रम आदिवासी बहुल बेणेश्वर धाम (डूंगरपुर) में हुआ। मुख्यमंत्री गहलोत को इस कार्यक्रम में भाग लेना था लेकिन मौसम खराब होने के कारण उनका कार्यक्रम टल गया। अलग अलग शहरों में विभिन्न मंत्रियों व विधायकों ने इससे जुड़े कार्यक्रमों में भाग लिया। 

Tags : ,government,Ashok Gehlot