+

प. बंगाल में प्रधानमंत्री किसान योजना लागू नहीं किए जाने पर राज्यपाल धनखड़ ने अप्रसन्नता जताई, CM ममता को लिखा पत्र

पिछले एक साल में कई मुद्दों को लेकर राज्य सरकार को आड़े हाथ लेने वाले धनखड़ ने आरोप लगाया कि तृणमूल सरकार ने किसानों के साथ ''क्रूर मजाक'' किया है। उन्होंने कहा, यह ''जानकर निराशा हुई'' कि योजना के तहत पश्चिम बंगाल में लाभार्थियों को केंद्रीय सहायता से वंचित किया जा रहा था।
प. बंगाल में प्रधानमंत्री किसान योजना लागू नहीं किए जाने पर राज्यपाल धनखड़ ने अप्रसन्नता जताई, CM ममता को लिखा पत्र
पश्चिम बंगाल में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना को प्रदेश में लागू नहीं करने पर राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने अप्रसन्नता जताते हुए सूबे की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि इस योजना से राज्य के करीब 70 लाख किसान लाभान्वित होंगे।

पिछले एक साल में कई मुद्दों को लेकर राज्य सरकार को आड़े हाथ लेने वाले धनखड़ ने आरोप लगाया कि तृणमूल सरकार ने किसानों के साथ ''क्रूर मजाक'' किया है। उन्होंने कहा, यह ''जानकर निराशा हुई'' कि योजना के तहत पश्चिम बंगाल में लाभार्थियों को केंद्रीय सहायता से वंचित किया जा रहा था।

धनखड़ ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा, '' राज्य के किसान पहले ही 8,200 करोड़ रुपये का लाभ प्राप्त नहीं कर सके जबकि देशभर के प्रत्येक किसानों को 12,000 रुपये मिले। हमारे किसानों को राज्य सरकार की असंवेदनशीलता और टकराव के कारण इस अधिकार से वंचित किया गया है।''

वहीं, सरकार ने कहा कि उसने राज्य में किसान के हित वाली कई परियोजनाएं शुरू की हैं। राज्यपाल ने कहा कि देश भर के किसानों को अब तक 92,000 करोड़ रुपये की सहायता मिल चुकी है जबकि बंगाल के किसानों को कुछ भी नहीं मिला।

facebook twitter