+

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में पाकिस्तान ने IB के पास अग्रिम चौकियों और गांवों पर की गोलीबारी

पाकिस्तानी रेंजर्स ने एक बार फिर से जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा (International border) के पास अग्रिम चौकियों और गांवों में शनिवार रातभर बिना उकसावे के गोलीबारी की और संघर्ष विराम समझौते का उल्लंघन किया।
जम्मू-कश्मीर के कठुआ में पाकिस्तान ने  IB के पास अग्रिम चौकियों और गांवों पर की गोलीबारी
पाकिस्तानी रेंजर्स ने एक बार फिर से जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा (International border) के पास अग्रिम चौकियों और गांवों में शनिवार रातभर बिना उकसावे के गोलीबारी की और संघर्ष विराम समझौते का उल्लंघन किया। यह जानकारी रविवार को अधिकारियों ने दी।  
उन्होंने बताया कि पाकिस्तान ने शनिवार रात करीब नौ बजकर 50 मिनट पर हीरानगर सेक्टर में करोल कृष्णा, मन्यारी और पंसार में सीमा पार से गोलीबारी की, जिसका सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने मुंहतोड़ जवाब दिया। अधिकारियों ने बताया कि दोनों पक्षों के बीच रविवार तड़के सवा चार बजे तक गोलीबारी जारी रही। उन्होंने बताया कि भारतीय पक्ष में किसी के हताहत होने की कोई जानकारी नहीं मिली है। 
पाकिस्तानी जवानों द्वारा पिछले आठ महीनों में संघर्ष विराम समझौते के लगातार उल्लंघन की घटनाओं ने सीमावर्ती गांवों के लोगों का जीवन मुश्किल बना दिया है। मन्यारी गांव के निवासी धरम पॉल ने कहा, ‘‘जीवन बहुत मुश्किल है और हमें हर रात पाकिस्तानी गोलीबारी में अपनी जान बचाने के लिए भूमिगत बंकरों में जाना पड़ता है।’’ उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की ओर मोर्टार के गोले दागे जाने और गोलीबारी किए जाने के कारण पिछले दो साल में गांव में करीब एक दर्जन मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं। पॉल ने कहा, ‘‘पाकिस्तान ने हमारा जीवन मुश्किल बना दिया है।’’ उन्होंने कहा कि कोई भी सीमा पर रह रहे लोगों की बात नहीं सुन रहा है, जो मोर्टार के गोले और गोलीबारी को झेल रहे हैं और इसके बावजूद भी टिके हुए हैं। 
इस बीच, बीएसएफ ने शनिवार सुबह जम्मू जिले के अरनिया सेक्टर में आईबी के पास से भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश कर रहे एक संदिग्ध ड्रोन पर गोलीबारी की। अधिकारियों ने बताया कि बीएसएफ ने भारतीय जमीन की ओर आ रही ड्रोन जैसी उड़ती वस्तु पर गोलियां चलाईं, जिसके बाद वह तत्काल पाकिस्तानी सीमा में लौट गई। सुरक्षा बल सीमा पर कड़ी सतर्कता बरत रहे हैं, क्योंकि पाकिस्तान पिछले कई महीनों से हथियार और नशीले पदार्थ गिराने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल कर रहा है। 

किसान प्रदर्शन पर नीति आयोग का बयान, कहा- कृषि कानून को ‘ठीक से समझ’ नहीं पाए हैं आंदोलनकारी


Tags : ,Pakistan,villages,Kathua,IB,Pakistani Rangers,Jammu and Kashmir,district,provocation,Jammu,International Border
facebook twitter instagram