+

पाकिस्तानी युद्धपोत श्रीलंका में डालेगा लंगर, बांग्लादेश ने रुकने की नहीं दी थी इजाजत

श्रीलंका ने चीन निर्मित पाकिस्तान के युद्धपोत पीएनएस तैमूर को कोलंबो में रुकने की अनुमति दे दी है। श्रीलंका ने पाकिस्तानी पोत को यह इजाजत बांग्लादेश सरकार द्वारा चटगांव बंदरगाह पर रुकने की अनुमति देने से इनकार करने के बाद दी।
पाकिस्तानी युद्धपोत श्रीलंका में डालेगा लंगर, बांग्लादेश ने रुकने की नहीं दी थी इजाजत
श्रीलंका ने चीन निर्मित पाकिस्तान के युद्धपोत पीएनएस तैमूर को कोलंबो में रुकने की अनुमति दे दी है। श्रीलंका ने पाकिस्तानी पोत को यह इजाजत बांग्लादेश सरकार द्वारा चटगांव बंदरगाह पर रुकने की अनुमति देने से इनकार करने के बाद दी।
यह पोत 15 अगस्त को यहां पाकिस्तान नौसेना में शामिल होने के लिए आ रहा है। शंघाई से कराची की यात्रा के दौरान युद्धपोत को सात से 10 अगस्त तक चटगांव बंदरगाह के बाहर लंगर डालना था। बांग्लादेश में शेख हसीना सरकार ने पीएनएस तैमूर को रुकने की अनुमति देने से इनकार कर दिया क्योंकि अगस्त का महीना प्रधानमंत्री शेख हसीना के लिए शोक का महीना है। उनके पिता शेख मुजीब-उर-रहमान की 15 अगस्त, 1975 को हत्या कर दी गई थी।
श्रीलंकाई बंदरगाह पर चीन निर्मित पाकिस्तानी युद्धपोत को रुकने की अनुमति ऐसे समय दी गई है जब कोलंबो ने हाल में भारत द्वारा सुरक्षा चिंताओं को व्यक्त करने के बाद रणनीतिक हंबनटोटा बंदरगाह पर एक चीनी अनुसंधान पोत की यात्रा को स्थगित करने का बीजिंग से आग्रह किया था।
एक अधिकारी ने कहा, ‘‘लेजर गाइडेड मिसाइलों से लैस युद्धपोत अब श्रीलंका सरकार की अनुमति के बाद कोलंबो बंदरगाह पर लंगर डाले हुए है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अब यह 12 अगस्त को कोलंबो बंदरगाह से कराची के लिए रवाना होगा।’’
facebook twitter instagram