बसों में मुफ्त सफर से घट रहे मेट्रो में यात्री

नई दिल्ली : राजधानी की बसों में महिलाओं के लिए शुरू हुए मुफ्त सफर का असर दिल्ली मेट्रो में दिखाई दे रहा है। पिछले तीन दिनों में दिल्ली मेट्रो से करीब दो लाख यात्री कम हुए हैं। आने वाले दिनों में यह संख्या और बढ़ने का अनुमान है। फिलहाल दिल्ली मेट्रो में अभी 55 से 60 लाख यात्री रोजाना सफर कर रहे हैं। 

मेट्रो सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 24 अक्टूबर को 59 लाख  80 हजार 660 यात्रियों ने मेट्रो में सफर किया, वहीं 29 अक्टूबर को यह संख्या घटकर 56 लाख 32 हजार 459 रह गई। वहीं 31 अक्टूबर को यात्रियों की संख्या घट कर 5522907 रह गई। मेट्रो सूत्रों का कहना है बसों में महिलाओं के लिए सफर मुफ्त होने के बाद मेट्रो के यात्रियों की संख्या पर असर पड़ा है। हालांकि कितने यात्री कम हुए हैं। 

इसका उचित आकलन दस दिन के बाद ही हो पाएगा। सूत्र बताते हैं कि मेट्रो में औसतन 37 फीसदी महिलाएं यात्रा करती हैं। इनमें मध्यम वर्ग की महिलाओं की संख्या ज्यादा हैं जो अब धीरे-धीरे बसों के तरफ रुख कर रही हैं। उनका कहना है कि यदि बसों की फ्रिक्वेंसी बढ़ती हैं और जाम की समस्या दूर होती है तो आने वाले दिनों में मेट्रो से यात्रियों की संख्या और तेजी से घट सकती है। बता दें कि दिल्ली मेट्रो द्वारा बढ़ाए गए किराये के बाद एक बड़े झटके में साथ सवा दो लाख मेट्रो यात्रियों मेट्रो से बाहर हो गए थे।

किराया बढ़ने पर घटे... 
दिल्ली मेट्रो की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2016-17 में मेट्रो के पास 27.61 लाख यात्री थी। मेट्रो द्वारा किराया बढ़ाने के बाद यात्रियों की संख्या 2.23 लाख घट गई। जबकि वर्ष 2008-09 से 2016-17 तक यात्रियों की संख्या लगातार बढ़ती रही। इस दौरान किराया भी बढ़ा लेकिन यात्रियों की संख्या घटी नहीं। वर्ष 2008-09 में मेट्रो के पास 7.22 लाख यात्री थे। जो हर साल बढ़ती रही। 

मेट्रो के अनुसार वर्ष 2009-10 में मेट्रो के पास 9.19 लाख यात्री, वर्ष 2010-11 में मेट्रो के पास 12.59 लाख यात्री, वर्ष 2011-12 में मेट्रो के पास 16.60 लाख यात्री, वर्ष 2012-13 में मेट्रो के पास 19.26 लाख यात्री, वर्ष 2013-14 में मेट्रो के पास 21.90 लाख यात्री, वर्ष 2014-15 में मेट्रो के पास 23.86 लाख यात्री, वर्ष 2015-16 में मेट्रो के पास 25.90 लाख यात्री, वर्ष 2016-17 में मेट्रो के पास 27.61 लाख यात्री थे। जबकि वर्ष 2017-18 में मेट्रो के यात्री घटकर 25.38 लाख यात्री रह गए। जो वर्ष 2015-16 में मेट्रो यात्रियों से भी कम है।

बसों में बढ़ रहीं महिला यात्री... 
दिल्ली सरकार द्वारा महिलाओं के लिए बसों में किए गए मुफ्त सफर की घोषणा के बाद से लगातार महिला यात्रियों की संख्या बसों में बढ़ रही है। पिछले तीन दिनों में दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) और क्लस्टर की बसों में पिंक टिकट के साथ सफर करने वाली महिलाओं की संख्या 15 से 20 फीसदी तक बढ़ी हैं। 

बसों में सफर करने वाली महिला यात्रियों का कहना है कि इस योजना के बाद से उन्हें रोजाना 50 से 100 रुपये का फायदा हो रहा है। हालांकि सफर के लिए समय ज्यादा लग रहा है। डीटीसी के अनुसार 31 अक्टूबर को जारी आंकड़े के अनुसार 37 फीसदी महिलाओं ने पिंक टिकट के साथ बसों में सफर किया। इस दिन 6 लाख 97 हजार 695 लोगों ने डीटीसी बसों में सफर किया। इसमें महिलाओं की संख्या 2 लाख 57 हजार 936 रही। 

एक दिन पहले यह आकड़ा 34 फीसदी था। वहीं क्लस्टर बसों से संबंधित जारी आकड़ों के अनुसार 31 फीसदी महिलाओं ने कलस्टर बसों में सफर किया। क्लस्टर बसों में कुल 3 लाख 47 हजार 562 यात्रियों ने सफर किया। इसमें 1 लाख 9 हजार 372 महिला यात्री ने सफर किया।
Tags : Fire,photos,नासा,NASA,residues of crops ,Passengers,capital,Delhi Metro