पीडीपी नेता जावेद मिरचल ने पार्टी से दिया इस्तीफा

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के पूर्व विधान परिषद सदस्य (एमएलसी) जावेद मिरचल ने पार्टी नेताओं के निष्कासन के विरोध में शनिवार को पीडीपी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। पीडीपी ने दो दिन पहले ही जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल से मुलाकात करने वाले पार्टी के आठ नेताओं को निष्काषित कर दिया था। 

मिरचल ने यहां जारी एक बयान में कहा कि उन्होंने अपने सहयोगियों खासकर राजा मंजूर अहमद और पूर्व विधायक कर्नाह, जो वर्तमान राजनीतिक परिस्थितियों में कुछ महत्वपूर्ण सार्वजनिक मांगों को पूरा करने के लिए उपराज्यपाल से मिले थे, को पीडीपी नेतृत्व द्वारा निष्काषित किए जाने के विरोध में इस्तीफा दे दिया है। 

पश्चिम बंगाल : PM के दौरे का कोलकाता में विरोध, 'गो बैक मोदी' के पोस्टर लेकर सड़क पर निकले छात्र

मिरचल ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद कहा कि पीडीपी लोगों की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाई है और पार्टी ने जनादेश के साथ विश्वासघात किया है। मिरचल ने अपने त्याग पत्र में कहा, गहराई से विचार करने और अपने निर्वाचन क्षेत्र के लोगों की सहमति के बाद मैं इस नतीजे पर पहुंचा हूं कि मुझे उस पार्टी का हिस्सा नहीं होना चाहिए, जो लोगों के कष्टों को कम करने में असमर्थ रही है। 

निष्कासित सदस्यों में से कुछ ने गुरुवार को विदेशी राजनयिकों के प्रतिनिधिमंडल से भी मुलाकात की थी। पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती पांच अगस्त, 2019 को अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद से अन्य कई राजनीतिक नेताओं के साथ नजरबंद हैं। 
Tags : चीनी,Chinese,Punjab Kesari,GST Council,जीएसटी काउंसिल,जीएसटीएन,gstn,Karnataka elections,कर्नाटक चुनाव ,Javed Mirachal,Javed Mirchal,party,PDP,protest,Peoples Democratic Party,MLC,Legislative Council,party leaders,expulsion