जल चुनौती से निपटने के लिए हो जन आंदोलन : शेखावत

केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत ने कहा है जल देश ही नहीं बल्कि दुनिया के लिए बड़ चुनौती है, लिहाजा इससे निपटने के लिए सबको जन आंदोलन छेड़ना होगा। श्री शेखावत ने आज यहां पत्रकारों को बताया कि देश में 18 प्रतिशत जनसंख्या के लिये मात्र चार प्रतिशत पानी की उपलब्ध है जो बहुत ही चिंतनीय है।

 यह बड़ चुनौती है जिससे निपटने लिये सामुहिक प्रयास करने होंगे। इसके लिए बड़ जन आंदोलन हो तभी हम इसका सामना कर पायेंगे। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी की नदी जोड़ने की महत्वकांक्षी परियोजना के तहत हमने ऐसे 31 लिंक की पहचान की है और इनमें से पांच की विस्तृत परियोजना विवरणी (डीपीआर) बनकर तैयार हो चुकी है। उन्होंने जल संरक्षण के लिए राज्य सरकारों से भी आग्रह किया है कि वे इस दिशा में सकारात्मक पहल करे। 

उन्होंने सीएए एवं एनआरसी का विरोध कर रहे लोगों को आड़ हाथों लेते हुए कहा कि वे लोग काल्पनिक भय बताकर मजहब के आधार पर देश को बांटने का बड़ अपराध और महापाप कर रहे हैं। बढ़ती महंगाई के सवाल पर उन्होंने कहा कि ऐसा वैश्वीकरण के चलते हो रहा है फिर भी मोदी सरकार महंगाई को थामने में कामयाब रही है। 

राजस्थान में बजरी एवं नशा माफिया को राजनीतिक संरक्षण प्राप्त होने के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि राज्य में गंभीर अपराधों के साथ महिला अपराधों में बहुत ज्यादा बढ़त्तरी हुई है जो राज्य सरकार की असफलता का द्योतक है। इससे पहले श्री शेखावत ने यहां आयोजित आतंकवाद विषय पर आयोजित एक सम्मेलन को भी सम्बोधित किया। उन्होंने श्रीसांवलियाजी एवं कालिका माता के दर्शन किये, इस दौरान उनके साथ सांसद चंद्रप्रकाश जोशी भी उपस्थित रहे।
Tags : भारतीय जनता पार्टी,Bharatiya Janata Party,गुजरात,Gujarat,उना कांड,विधायक प्रदीप परमार,Una Kand,MLA Pradeep Parmar ,Shekhawat,Chandraprakash Joshi,conference,Srisavaliyaji,Kalika Mata