+

बोर्ड एग्जाम के स्टूडेंट्स के वैक्सीनेशन को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका

दिल्ली हाई कोर्ट में दायर एक जनहित याचिका में केंद्र और दिल्ली सरकार को बोर्ड परीक्षाओं में शामिल होने वाले 10वीं और 12वीं के सभी विद्यार्थियों को टीका लगाने का निर्देश देने का अनुरोध किया गया है।
बोर्ड एग्जाम के स्टूडेंट्स के वैक्सीनेशन को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका
दिल्ली हाई कोर्ट में 2020-21 सत्र के लिए बोर्ड परीक्षाओं में शामिल होने वाले 10वीं और 12वीं के सभी विद्यार्थियों के कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर याचिका दायर की गई है। याचिका में कोर्ट द्वारा केंद्र और दिल्ली सरकार को विद्यार्थियों के वैक्सीनेशन के निर्देश देने का अनुरोध किया गया है।
मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायमूर्ति जसमीत सिंह की पीठ ने तीन वकीलों द्वारा दायर याचिका पर शिक्षा एवं स्वास्थ्य मंत्रालयों तथा दिल्ली सरकार को नोटिस जारी कर उनसे इस संबंध में अपना पक्ष रखने को कहा। कोर्ट ने पूछा कि जिन कोविड-19 टीकों का फिलहाल इस्तेमाल किया जा रहा है क्या उन्हें 18 साल से कम उम्र के लोगों को दिया जा सकता है। दिल्ली सरकार के स्थायी वकील संतोष के त्रिपाठी और केंद्र सरकार की स्थायी वकील मोनिका अरोड़ा ने कहा कि 10वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं जबकि 12वीं की परीक्षाएं फिलहाल के लिए टाल दी गई हैं। 

देश में कोरोना ने तोड़े फिर सारे रिकॉर्ड, पिछले 24 घंटे में 4.14 लाख केस, 3915 लोगों की मौत

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर सीबीएसई ने 12वीं की परीक्षाओं को टाल दिया गया है, जबकि 10वीं की परीक्षाओं को रद्द कर दी गई हैं। आदेश के मुताबिक, 4 मई से 14 जून तक होने वाली 12वीं की परीक्षाओं को रद्द कर दिया गया है। 
1 जून को एक और बैठक होगी, जिसमें तब के हालातों को देखते हुए फैसला लिया जाएगा। अगर परीक्षाएं होंगी तो 15 दिन पहले ही छात्रों को सूचित कर दिया जाएगा। वहीं सीबीएसई 10वीं की परीक्षाए जो कि 4 मई से 14 जून तक होनी थी, उन्हें पूरी तरह से रद्द कर दिया गया है। बोर्ड की ओर से छात्रों के परफॉर्मेंस के आधार पर नंबर्स दिए जाएंग। अगर कोई छात्र या छात्रा अपने नंबर्स से खुश नहीं होगा, तो उसे बाद में एग्जाम देने का मौका मिलेगा। 

facebook twitter instagram