+

राम मंदिर भूमि पूजन : अयोध्या में PM मोदी ने रामलला के किए दर्शन, कार्यक्रम की हुई शुरुआत

अयोध्या में प्रस्तावित राम मंदिर के लिए भूमि पूजन बुधवार को दोपहर 12.30 बजे शुरू होगा। कार्यक्रम प्रधानमंत्री द्वारा शिला पूजन, भूमि पूजन और कर्म शिला पूजन के साथ शुरू होगा।
राम मंदिर भूमि पूजन : अयोध्या में PM मोदी ने रामलला के किए दर्शन, कार्यक्रम की हुई शुरुआत
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को राम मंदिर के 'भूमिपूजन' समारोह में शामिल होने के लिए उत्तर प्रदेश के अयोध्या पहुंच गए।इससे पहले पारंपरिक परिधान (धोती और कुर्ता) पहने प्रधानमंत्री एक विशेष विमान में दिल्ली से रवाना हुए। पहले वह लखनऊ पहुंचे, जहां से वह हेलीकॉप्टर से अयोध्या पहुंचे।
प्रधानमंत्री के अयोध्या आगमन से पहले प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राम जन्मभूमि परिसर में भूमि पूजन स्थल पर पहुंचे। सीएम ने भूमि पूजन स्थल पर अफसरों से बातचीत कर व्यवस्था को परखा। वहीं प्रधानमंत्री के अयोध्या आगमन के बाद सीएम योगी ने उनका स्वागत किया। यहां से पीएम का काफिला हनुमान गढ़ी मंदिर के लिए रवाना हुआ।
जिसमे बाद मोदी ने हनुमान गढ़ी मंदिर में पूजा-अर्चना की।हनुमानगढ़ी का दर्शन करने के बाद प्रधानमंत्री राम जन्मभूमि परिसर में पहुंचे और रामलला के दर्शन किए। पीएम ने पारिजात का पौधा भी लगाया।
भूमि पूजन कार्यक्रम की शुरुआत हो चुकी है। मोदी भूमि पूजन के लिए हो रहे अनुष्ठान में भाग ले रहे हैं। इस दौरान, प्रधानमंत्री के साथ यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत भी मौजूद हैं।

यह है पूरे कार्यक्रम की रूपरेखा
अयोध्या में प्रस्तावित राम मंदिर के लिए भूमि पूजन बुधवार को दोपहर 12.30 बजे शुरू होगा। कार्यक्रम प्रधानमंत्री द्वारा शिला पूजन, भूमि पूजन और कर्म शिला पूजन के साथ शुरू होगा। एक आधिकारिक बयान के अनुसार, प्रमुख पूजा दोपहर को 12.44 बजे और 12.45 बजे के बीच 32-सेकंड के अभिजीत मुहूर्त के दौरान आयोजित की जाएगी। यह वही मुहूर्त या शुभ मुहूर्त है जब भगवान राम का जन्म हुआ था।
मंदिर निर्माण की शुरुआत के प्रतीक के तौर पर प्रधानमंत्री मंदिर की नींव में 40 किलो चांदी की ईंट रखेंगे। मोदी के अयोध्या में करीब तीन घंटे कर रुकने की संभावना है। वह सुबह 11.40 बजे हनुमान गढ़ी मंदिर जाएंगे जहां वह 10 मिनट के लिए प्रार्थना करेंगे और फिर राम जन्मभूमि परिसर में जाएंगे, जहां वह राम लला विराजमान की पूजा करेंगे।
प्रधानमंत्री दोपहर 12.10 बजे परिजात का पौधरोपण करेंगे और मंदिर परिसर में भूमिपूजन समारोह के लिए आगे बढ़ेंगे।समारोह के दोपहर 12.45 बजे समाप्त होने के बाद प्रधानमंत्री करीब एक घंटे तक संतों को संबोधित करेंगे, जिसके बाद वह लगभग 2 बजे लखनऊ वापस जाएंगे और फिर दिल्ली लौट जाएंगे।

facebook twitter