+

PM मोदी की चुनावी रैली पर कांग्रेस के 10 तीखे सवाल, बिहार से भाजपाई धोखे का दें जवाब?

पीएम मोदी ने सासाराम में शुक्रवार को चुनावी रैली संबोधित करते हुए विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। वहीं कांग्रेस ने भी बीजेपी के धोखे पर प्रधानमंत्री से दस सवाल किए।
PM मोदी की चुनावी रैली पर कांग्रेस के 10 तीखे सवाल, बिहार से भाजपाई धोखे का दें जवाब?
बिहार विधानसभा चुनाव के प्रचार मैदान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस नेता राहुल गांधी की एंर्टी होने से सियासी तापमान का बढ़ना लाज़मी है। सासाराम में शुक्रवार को चुनावी रैली संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। वहीं कांग्रेस ने भी बीजेपी के धोखे पर प्रधानमंत्री से दस सवाल किए। 
कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सिलसिलेवार किए ट्वीट में बीजेपी से बिहार से जुड़े सवाल किए। उन्होंने प्रधानमंत्री से बिहार से भाजपाई धोखे का जवाब मांगा। इससे पहले पीएम की रैली को लेकर राहुल गांधी ने शायराना अंदाज में तंज कसते हुए कहा, "तुम्हारे दावों में बिहार का मौसम गुलाबी है, मगर ये आंकड़े झूठे हैं ये दावा किताबी है।"

सुरजेवाला ने अपने पहले सवाल में प्रधानमंत्री से पूछा, बिहार को ‘विशेष राज्य’ का दर्जा क्यों नही? आपके मंत्री ने ‘विशेष राज्य’ का दर्जा क्यों किया ख़ारिज? नीतीश बाबू अब ‘विशेष राज्य’ के दर्जे पर चुप  क्यों? क्या आज आप इसकी घोषणा करेंगे? आज मांग माने या माफ़ी मांगे!
दूसरे सवाल में उन्होंने पूछा, बिहार के युवाओं के भविष्य पर कुठाराघात क्यों किया? पिछले चुनाव में 500 करोड़ की लागत से भागलपुर में केंद्रीय यूनिवर्सिटी बनाने की घोषणा कर वाहवाही तो खूब लूटी, पर भागलपुर की केंद्रीय यूनिवर्सिटी की एक भी ईंट क्यों नहीं लगी?
सवाल नंबर 3- बिहार के युवाओं को ‘कौशल विकास’ का झूठा सपना क्यों दिखाया? 2015 में मोदी जी की घोषणा के अनुसार 1550 करोड़ से बिहार में बनने वाली ‘स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी’ कहां खो गई? इसे वाराणसी क्यों ले गए?
सवाल नंबर 4- बिहार में बिजली उत्पादन को लेकर आपने झूठ क्यों बोला? बक्सर के चौसा में दस हजार करोड़ की लागत से बनने वाले 1300 मेगावॉट थर्मल पॉवर प्लांट का क्या हुआ? 5 साल में पांच ईंट भी क्यों नही लगी?
सवाल नंबर 5- मोदी जी द्वारा घोषणा की गई 1500 करोड़ रु. की लागत से बनने वाली पटना की सिक्स-लेन रिंग रोड कहां गुम हो गई? पाँच साल में पाँच इँच का भी निर्माण क्यों नही हुआ?
सवाल नंबर 6- गंगा मैया पर मनिहारी से झारखंड में साहिदगंज को जोड़ने वाले 2000 करोड़ के पुल की घोषणा कर मोदी जी ने वाहवाही तो खूब लूटी पर इस योजना को ही खत्म क्यों कर दिया गया? बिहार के लोग भूल नही सकते,पूछ रहे हैं?
सवाल नंबर 7- 4000 करोड़ रु. की लागत से बनने वाले बिहार में पड़ने वाले श्री राम-जानकी मार्ग तथा उत्तर प्रदेश सीमा से सिवान-मधुबनी-सीतामढ़ी-भारत नेपाल सीमा तक बनने वाली चार लेन सड़क का क्या हुआ? कहाँ खो गई है है वो?
सवाल नंबर 8- मोदी जी की घोषणा के मुताबिक ₹ 5,000 करोड़ की लागत से बनने वाले कोसी पुल तथा उचैत भगवती स्थान से मेसी-तरास्थन को जोड़ने वाले 5000 करोड़ की सड़क कहां खो गई? क्या जवाब देंगे?
सवाल नंबर 9- मोदी सरकार ने ‘सियाराम’ को धोखा क्यों दिया? मोदी जी द्वारा घोषणा किए गए बिहार में रामायण सर्किट के 100 करोड़ रु. कहां गुम हो गए? क्या जबाब देंगे?
सवाल नंबर 10- सीता मैया को लेकर मोदी सरकार की बेरुखी क्यों? सीतामढ़ी के पुरोना में माता सीता के ‘प्राकट्य स्थल परिसर’ में भगवान राम-माता सीता के जीवन पर बनने वाले संग्रहालय से मोदी सरकार ने इंकार क्यों कर दिया?
बिहार चुनाव प्रचार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस नेता राहुल गांधी की एंट्री हो गई है। दोनों नेता राज्य में अपने-अपने गठबंधन के लिए सिलसिलेवार रैलियां करने वाले है। प्रधानमंत्री मोदी विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में 28 अक्टूबर को पहले चरण के मतदान के लिए डेहरी ऑन सोन (रोहतास जिला), गया और भागलपुर में तीन रैलियों में राजग के उम्मीदवारों के लिए समर्थन मांगने के लिए चुनावी मैदान में उतर चुके हैं। 
राहुल गांधी भी आज से बिहार में प्रचार करेंगे। वह नवादा के हिसुआ और भागलपुर के कहलगांव में दो रैलियों को संबोधित करेंगे। कांग्रेस और राजद के सूत्रों ने बताया कि महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव हिसुआ में राहुल गांधी के साथ रहेंगे।
facebook twitter instagram