+

गया रैली में बोले पीएम मोदी - NDA के वोट की चोट पर महागठबंधन के जंगलराज का खात्मा तय

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सासाराम एवं गया के गांधी मैदान में चुनावी सभा में विपक्ष पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि बिहार का चुनाव दो कारणों से अहम है।
गया रैली में बोले पीएम मोदी - NDA के वोट की चोट पर महागठबंधन के जंगलराज का खात्मा तय
गया, (जेपी चौधरी) : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सासाराम एवं गया के गांधी मैदान में चुनावी सभा में विपक्ष पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि बिहार का चुनाव दो कारणों से अहम है। एक कारण कोरोना महामारी में मतदान होना विश्व के इतिहास में पहला राज्य है तो दूसरा खुद को सुरक्षित रखते हुए बिहार को मजबूत सरकार बनाने की दरकार है। उन्होंने कहा कि बिहार के विकास योजनाओं को लटकाने व भटकाने वाले लोगों ने बिहार का मान मर्दन किया है। 15 वर्षो पूर्व आप लोगों ने सत्ता जिनके हाथों में सौंपी थी वह लालटेन का जमाना खत्म हो गया। उन लोगों ने भारत को कमजोर का साजिश रच रहे हैं जम्मू कश्मीर से 370 हटाने का इंतजार भारत के लोग कर रहे थे जिसे एनडीए सरकार ने एक ही झटके में खत्म कर दिया। जिसे महागठबंधन के लोग फिर से इस फैसले को पलटने की फिराक में हैं। बिहार के लोग अपने बेटे व बेटियों को सीने पर पत्थर रखकर भारतीय सीमा पर सीमा सुरक्षा करने के लिए भेजते हैं। 
मोदी ने कहा कि बिहार को 90 के दशक में राज्य में अराजकता और अपराध के दल-दल में धकेल दिया गया था। इन तमाम समस्याओं के देखते हुए कुशासन और अराजकता के बोलबाला देखने को मिलती थी जिसका जन्म नई सदी में हुई थी। हमें वोट के माध्यम से नये बिहार बनने की आवश्यकता है। एक समय था जब लोग 90 के दशक में रेलवे स्टेशन से उतरने के बाद स्टेशन पर ही रात गुजारनी पड़ती थी। लोग नई गाडिय़ां नहीं खरीदते थे क्योंकि कब उनकी गाडिय़ां छिन जायेगी और अपहरण उद्योग खुल गया था। वैसी स्थिति में एनडीए सरकार ने बिहार को इस दल-दल से बाहर निकालने का काम किया।
उन्होंने कहा कि बिहार में पहले गरीबों के घर में दीया-ढि़बरी के भरोसे रहना पड़ता था आज लालटेन का दौर समाप्त हो गया है। बिजली के इस दौर में घर रौशन से गुलजार हो रहे हैं। पहले घर में महिलाओं को चूल्हा फूंक कर खाना बनाना पड़ता था अब उन्हें उज्जवला योजना के माध्यम से गरीबों के घरों में गैस चूल्हा पर खाना बन रही है। यहां पर सडक़ों की स्थिति ठीक नहीं थी वैसे में केन्द्र की एनडीए सरकार ने पीएम फंड द्वारा 22 हजार करोड़ की लागत से सडक़ों का निर्माण कराया। राज्य में नये नये मेडिकल, इंजीनियरिंग व आईआईएमएम कॉलेज खोले गये हैं जिसे बिहार के छात्र-छात्राएं शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। पहले यहां के छात्र-छात्राएं स्कूल जाने से डरते थे। लेकिन आज वह खुशी- खुशी स्कूल जा रहे हैं।
 मोदी ने कहा बिहार के महान विभूति महात्मा बुद्ध की धरती शांति का प्रतीक माना जाता था उस धरती के लहुलुहान कर नक्सलियों के हवाले कर दिया गया था। बिहार में हिंसा, अपहरण व अराजकता की फौज खड़ी हो गयी थी जिसे बीते सालों से निकाल कर बाहर कर दिया गया और अब बिहार में विकास की गंगा बह रही है। फिर से महागठबंधनों के द्वारा बिहार को अंधकार में ले जाने की तैयारी चल रही है उससे सावधान रहने की जरूरत है। महागठबंधन के लोग देश को तोडऩे व बांटने वालों पर विश्वास रखते हैं। इस पर केन्द्र सरकार एक्शन लेती है तो महागठबंधन के लोग उनके पक्ष में खड़ा हो जाते हैं। 
 मोदी ने कहा कि केन्द्र की एनडीए सरकार बिहार को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाने के लिए सफल प्रयास कर रही है। आपके हाथों में मोबाइल फोन पर ज्यादा से ज्यादा सरकारी सुविधाएं करा दी गयी है पहले राशन, पेंशन, स्कॉलरशिप में हर जगह घोटाले ही घोटाले होते थे अब गरीबों को उनका पूरा हक मिलना शुरू हो गया है। 90 के दशक में गरीबों के द्वारा चुने हुए सरकार ने अपना साम्राज्य स्थापित कर लिया था जिसके कारण लोगों के सर पर छत नसीब नहीं होते थे। हमारी सरकार बनी तो उनके सर पर छत दिया जा रहा है। वर्षों से अंधकार में डूबे लोगों के घर में उजाला हो गया है। जो गरीब लोग पहले बैंक में कदम रखने से डरते थे उनको जन-धन योजना के माध्यम से बैंकों में खाता खुलवाकर उनके एकाउंट में पैसे ट्रांसफर किये जा रहे हैं। ऐसे काम करने वाले लोगों पर सौ-सौ बार सोंचना पड़ता है इससे गरीबों को नयी ताकत मिली है। 
पीएम मोदी ने आगे कहा केन्द्र सरकार ने गांव को सशक्त बनाने के लिए कई योजनाओं को लागू किया है जिसे सवामित्व योजना कार्ड के माध्यम से गांव के गरीबों के घर एवं जमीन का स्वामित्व मिलेगा। इससे अनेक विवाद खत्म करने का अधिकार प्रोपर्टी खरीदने व बेचने का अधिकार मिलेगा। इससे बैंक से आसान लोन मिल सकेगा। चुनाव के बाद इस स्वामित्व योजना कार्ड के माध्यम से प्रोपर्टी कानून को लागू किया जायेगा। जिन लोगों ने बिहार को  बर्बाद किया उनका इन्हीं से घर फलताफूलता रहा है। बिहार में सुधार की राह रफ्तार पकड़ लिया है। हमारी फोकस इन्हीं योजनाओं पर है बिहार में पानी की कमी को दूर करने हेतु 23 हजार हेक्टेयर सिंचाई परियोजना को दायरे में लाया गया है। 
मोदी ने आगे कहा, गया के मोक्षदायिनी फल्गू नदी का जीर्णोद्धार किया जा रहा है। बिहार देश के उन राज्यों में सुमार होगी, जिसमें पाईप से पानी घर-घर पहुंचाया जायेगा। 40 साल पहले उतर कोयल नदी परियोजना पर काम शुरू हुआ था। लेकिन बीच में इसको किसी सरकारने पूरा नहीं किया। जिससे गया समेत हजारों हेक्टेयर भूमि सिंचित नहीं हो सका। केन्द्र सरकार ने इस उतर कोयल परियोजना को जीणोद्धार करने का संकल्प लिया है। इससे राज्य में पर्यटकों की संभावनाएं ज्यादा है इसके लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर अच्छा होनी चाहिए। सरकार ने बनारस के कुशीनगर एवं गया को बौद्ध सर्किट से जोडऩे के लिए हवाई मार्ग शुरू करने जा रही है। इससे पर्यटकों को सुविधा मिलेगा। 
उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अगुआई में बेहतर सरकार बनेगी। कोरोना से बचाना जरूरी है साथ ही बिहार को फिर से बीमारू राज्य नहीं बनने के लिए एनडीए के घटक दल भाजपा जदयू हम एवं वीआईपी के उम्मीदवारों को अधिक से अधिक मत देकर भारी मतों से जीताकर बेहतर व मजबूत सरकार बनायें। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बोधगया, टेकारी, गया, बेलागंज, अतरी, बाराचटटी, वजीरगंज, इमामगंज एवं शेरघाटी विधानसभा क्षेत्रों के संयुक्त कार्यक्रमों को संबोधित किया।
इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री नित्यानंद राय, जदयू सांसद राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह, जहानाबाद सांसद चन्देश्वर सिंह चन्द्रवंशी, रांची के भाजपा सांसद संजय सेठ, पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी, कृषि मंत्री प्रेम कुमार,डीएन सिंह, प्रत्याशी डा. विनोद कुमार यादव, अनिल कुमार, अभय कुशवाहा, हरि मांझी, संतोष मांझी, मनोरमा देवी, चन्द्रिका सिंह दांगी इत्यादि भारी संख्या में लोग उपस्थित थे।
facebook twitter instagram