राफेल पर PM मोदी का राहुल को जवाब, कहा- वे चाहते थे नया विमान न आने पाए

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव की एक रैली में राफेल विमान को फिर से मुद्दा बनाया तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अगले ही दिन सोमवार को हरियाणा की रैली में उन्हें जवाब दिया। प्रधानमंत्री ने कहा, "राफेल विमान को लेकर इन्होंने लोकसभा चुनाव के दौरान कैसी हायतौबा मचाई थी। इन लोगों ने पूरा जोर लगा दिया था कि यह विमान समझौता रद्द हो जाए, भारत में नया लड़ाकू विमान न आने पाए। लेकिन इन लोगों की तमाम कोशिशों के बावजूद भारत को पहला राफेल विमान सौंपा जा चुका है।"

मुंबई के चंदावली विधानसभा क्षेत्र में रविवार को हुई चुनावी रैली में राहुल गांधी ने कहा था कि आज भी राफेल भाजपा को चुभ रहा है, इस नाते रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को फ्रांस जाकर लड़ाकू विमान लेना पड़ा। उन्होंने रक्षा मंत्री के फ्रांस जाने पर सवाल उठाए थे। मोदी ने यहां कुल 16 विधानसभा सीटों के प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित इस सभा के जरिए भाजपा के पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश की। 

रैली में राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा उठाते हुए उन्होंने कहा कि हमारे अपने तेजस लड़ाकू विमान को इन लोगों ने डिब्बे में बंद करने की तैयारी कर ली थी। लेकिन, हमारी सरकार ने सारी रुकावटों को दूर कर तेजस की उड़ान को नए पंख लगाए। आज तेजस भारतीय वायुसेना की शान बन रहा है। 


प्रधानमंत्री ने अनुच्छेद 370 और 35 ए पर विपक्ष को खुली चुनौती देते हुए कहा, "यदि हिम्मत है तो स्पष्टता के साथ हरियाणा के सामने आएं और बताएं कि अगर ये चुनाव जीतकर आएंगे तो 370 और 35 ए वापस लाएंगे। लोकसभा चुनाव तक अपने मेनिफेस्टों में लिखें कि हम 370 वापस लाएंगे।" 

उन्होंने पूर्व की सरकारों में नौकरियों में व्याप्त भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाते हुए इस मामले में जेल जाने वाले पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला की तरफ भी इशारा किया। उन्होंने कहा, "पहले हरियाणा में सरकारी भर्ती के नाम पर रिश्वतखोरी और युवाओं से लूट होती थी। नौकरियों के लिए जितने तरह के खेल होते थे, उन्होंने यहां के कई नेताओं को जेल तक पहुंचाया है। लेकिन ये स्थिति अब बदल चुकी है।" 

हरियाणा: राहुल का PM पर वार, बोले- अडानी और अंबानी के लाउडस्पीकर हैं मोदी

मोदी ने इस रैली में किसानों, श्रमिकों और व्यापारियों समेत हर वर्ग को साधने के लिए उनके लिए चलाई गईं योजनाओं का जिक्र किया। श्रमिकों के लिए कहा कि 60 वर्ष की आयु के बाद तीन हजार रुपये की नियमित पेंशन सुरक्षा चक्र का हिस्सा है। 

मोदी ने कहा, "हमने कहा था कि छोटे किसानों, खेत मजदूरों, छोटे व्यापारियों और दुकानदारों को हर महीने पेंशन की सुविधा दी जाएगी। हमने ये भी कहा था कि देश के व्यापारियों और कारोबारियों के लिए राष्ट्रीय व्यापारी कल्याण बोर्ड को गठन करेंगे।" मोदी ने भाषण में जवानों के परिवारवालों के लिए किए कार्य भी गिनाए। 

उन्होंने कहा कि सरकार बनते ही शहीदों के बच्चों की स्कॉलरशिप को बढ़ाने का फैसला लिया गया। हमारे पुलिस के, केंद्रीय बलों के जवान नक्सलियों और आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हो जाते हैं, उनके बच्चों को भी इसके दायरे में लाया गया। 

उन्होंने कांग्रेस और समूचे विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि ये लोग जमीन से इतना कट चुके हैं कि वास्तविक सच्चाई इन्हें नजर ही नहीं आ रही है। जब तीन तलाक की बात होती थी, तो इन्हें लगता था कि इससे इनकी मुस्लिम वोटबैंक की राजनीति चलेगी और जो मुस्लिम पति हैं वो इससे खुश हो जाएंगे और इनका साथ देंगे। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस और उसके जैसे दलों की करनी कैसी रही है, इसका जीता जागता सबूत वन रैंक वन पेंशन है। ये लोग आपसे झूठ बोलते रहे लेकिन वन रैंक वन पेंशन लागू नहीं किया। आज न ये सिर्फ सच्चाई है बल्कि हरियाणा के भी करीब-करीब दो लाख पूर्व फौजियों को इसका लाभ मिल चुका है। 
Tags : Chhattisgarh,Congress,Raipur,रमन सरकार,Raman Sarkar,Tribal Department,Pathargarh agitation ,Modi,Rafael,Rahul,elections,Lok Sabha,India