दिल्ली में RBI कार्यालय के बाहर जमा हुए PMC खाताधारक, मांगा आश्वासन

पीएमसी के परेशान खाताधारकों का एक समूह यहां बुधवार को भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) कार्यालय के बाहर जमा हुआ और केंद्रीय बैंक से यह आश्वासन मांगा कि घोटाला से प्रभावित सहकारी बैंक में उनके खाते सुरक्षित हैं तथा निर्धारित समय के भीतर उन्हें उनकी रकम वापस मिल जाएगी। 
मंगलवार को आरबीआई ने बैंक के उपभोक्ताओं के लिए पैसे निकालने की सीमा बढ़ाकर 50,000 रुपये कर दी लेकिन यह परेशान खाताधारकों की चिंताएं दूर करने के लिए काफी नहीं है। आरबीआई मुख्यालय के बाहर जमा हुए 20 खाताधारकों में से अधिकतर पश्चिमी दिल्ली में तिलक नगर से थे, जहां बैंक की एक शाखा है।

पंचकूला हिंसा मामले में राम रहीम की करीबी हनीप्रीत को मिली जमानत

तरणजीत सिंह (33) ने कहा कि कम से कम आरबीआई से किसी प्रतिनिधि को उन्हें आश्वस्त करना चाहिए उनकी जमा राशि को निर्धारित समय में वापस कर दिया जाएगा। तरणजीत सिंह निजी नौकरी में हैं और घोटाला प्रभावित बैंक में उनके 10 लाख रुपये जमा हैं। उन्होंने कहा, ‘‘आरबीआई को एक संवाददाता सम्मेलन करना चाहिए और हमें आश्वस्त करना चाहिए कि हमारे पैसे सुरक्षित हैं।’’ 
पंजाब एवं महाराष्ट्र सहकारी बैंक (पीएमसी बैंक) 10 शहरी सहकारी बैंकों में शामिल है। नियमों से हटकर दिए गए कर्ज की जानकारी छुपाने के कारण 23 सितंबर से छह महीने के लिए यह बैंक आरबीआई की प्रशासनिक निगरानी में था। यह संकट उस वक्त शुरू हुआ जब कथित 4,355 करोड़ रुपये का घोटाला प्रकाश में आया और आरबीआई ने 24 सितंबर से प्रति उपभोक्ता 1,000 रुपये निकालने की सीमा तय कर दी।
इसके बाद कई कदम उठाते हुए आरबीआई ने यह सीमा बढ़ाकर 50,000 रुपये कर दी। आरबीआई कार्यालय के बाहर जमा हुए पीएमसी खाताधारकों में से 65 वर्षीय मंजीत सिंह भी शामिल थे। उन्होंने कहा कि बैंक में उनकी लाखों की सावधि जमा राशि हैं और उनकी आजीविका इन्हीं जमा राशियों से मिलने वाले ब्याज पर निर्भर है। उन्होंने कहा, ‘‘अगर बैंक इसी तरह से अपने उपभोक्ताओं से निपटता है तो लोगों का बैंकिंग प्रणाली से भरोसा उठ जाएगा।’’ 
Tags : Fire,photos,नासा,NASA,residues of crops ,West Delhi,account holder,PMC,office,RBI,account holders,headquarters,bank,branch,Most,Tilak Nagar