+

बाल यौन शोषण मामले में गिरफ्तार बर्खास्त भाजपा नेता के खिलाफ पुलिस लगा सकती है रासुका

उत्तर प्रदेश के जालौन जिले के कोंच कस्बे से बुधवार को बाल यौन शोषण मामले में गिरफ्तार किये गए बर्खास्त भाजपा नेता के खिलाफ शुक्रवार की देर शाम एक नाबालिग की शिकायत पर एक और नया मामला दर्ज किया गया है।
बाल यौन शोषण मामले में गिरफ्तार बर्खास्त भाजपा नेता के खिलाफ पुलिस लगा सकती है रासुका
उत्तर प्रदेश के जालौन जिले के कोंच कस्बे से बुधवार को बाल यौन शोषण मामले में गिरफ्तार किये गए बर्खास्त भाजपा नेता के खिलाफ शुक्रवार की देर शाम एक नाबालिग की शिकायत पर एक और नया मामला दर्ज किया गया है। पुलिस आरोपी को रिमांड में लेने की भी कोशिश कर रही है और उसके खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) लगाए जाने पर विचार कर रही है। 
जालौन जिले के पुलिस अधीक्षक यशवीर सिंह ने शनिवार को बताया कि शुक्रवार देर शाम एक पीड़ित नाबालिग लड़के की शिकायत पर बर्खास्त भाजपा नेता और सेवानिवृत लेखापाल रामबिहारी राठौर के खिलाफ यौन शोषण का एक और नया मामला दर्ज किया गया है। आरोपी इस पीड़ित लड़के का 2014 से यौन शोषण कर रहा था। 
उन्होंने बताया, 'इसके पहले दो नाबालिग लड़कों की शिकायत पर दो अलग-अलग मुकदमें दर्ज हो चुके थे और यह तीसरा मामला दर्ज हुआ है।'सिंह ने कहा, 'अब तक कई और पीड़ित लड़के पुलिस के सामने आ चुके हैं, साथ ही पुलिस को कुछ और अश्लील वीडियो होने का अंदेशा है, जिनकी बरामदगी के लिए पुलिस अदालत से आरोपी का रिमांड में लेने की कोशिश कर रही है।'
पुलिस अधीक्षक ने बताया, 'यदि आरोपी के जेल से बाहर आने पर देश या समाज को खतरा महसूस होता नजर आया तो उसके खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत भी कार्यवाही की जा सकती है । इस बारे में विचार किया जा रहा है और शासन से ऐसे निर्देश भी मिल चुके हैं।'सिंह ने बताया कि 'आरोपी रामबिहारी राठौर की ही शिकायत पर बरामद डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर (डीवीआर) की जांच-पड़ताल से बाल यौन शोषण का मामला उजागर हुआ है।'
उन्होंने बताया, 'पिछले हफ्ते दो पीड़ित बच्चों ने आरोपी की सीसीटीवी की डीवीआर चुरा ली थी। आरोपी को शक था कि वो (पीड़ित) ये वीडियो कहीं वायरल न कर दें तो उसने पुलिस से शिकायत की थी। इस सिलसिले में पुलिस ने मामले की प्राथमिकी तो नहीं दर्ज की थी, लेकिन दोनों नाबालिगों को डीवीआर के साथ पकड़ कर पूछताछ की तो पीड़ितों ने पुलिस को बताया कि डीवीआर में उनके यौन शोषण से जुड़़े राठौर के अश्लील वीडियो हैं, जिनकी जांच-पड़ताल करने पर ही इतना बड़ा मामला खुला है।'
वहीं, कोंच कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक (एसएचओ) इमरान खान ने बताया कि आरोपी रामबिहारी राठौर ने जेल जाने से पूर्व पुलिस की पूछताछ में दो महिलाओं के यौन शोषण करने का भी अपराध स्वीकार किया था। उन महिलाओं से भी महिला सिपाहियों ने संपर्क किया है। पीड़ित महिलाओं ने मौखिक तौर पर हकीकत बयां की, लेकिन अपनी शादीशुदा जिंदगी का हवाला देकर बयान दर्ज करवाने से मना कर रही हैं। फिर भी पुलिस लगातार उनके भी संपर्क में है।''
खान ने कहा कि 'मामले में तीन पीड़ित नाबालिग लड़के अपनी शिकायत दर्ज करवा चुके हैं, जबकि दो महिलाएं एवं छह-सात और पीड़ित बच्चों की पहचान की गयी है, जिनकी शिकायत लेने या फिर मामले में साक्ष्य के तौर पर बयान दर्ज करने की कोशिश की जा रही है।'उन्होंने कहा, 'इस प्रकार अब तक 12 पीड़ित (नाबालिग लड़के और महिलाएं) सामने आ चुके हैं। अभी मामले की जांच चल रही है।'
इस बीच, भाजपा के जालौन जिलाध्यक्ष रामेंद्र सिंह ने बताया कि 'बाल यौन शोषण मामले में गिरफ्तारी के बाद रामबिहारी राठौर को तत्काल प्रभाव से उसके पद और पार्टी (भाजपा) की प्राथमिक सदस्यता से बर्खास्त कर दिया गया है और अब पार्टी का शीर्ष नेतृत्व इस बारे में भी जांच कर रहा है कि आखिर किसकी वजह या सिफारिश से राठौर उपाध्यक्ष के पद तक पहुंचा था।'
गौरतलब है कि बाल यौन शोषण के मामले में बुधवार (13 जनवरी) को गिरफ्तार किया गया रामबिहारी राठौर सेवानिवृत राजस्व अधिकारी (लेखपाल/कानूनगो) है और वह सेवानिवृत होने के बाद 2017 में भाजपा से जुड़ गया था। गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने उसके (राठौर के) मकान के एक कमरे में बने कार्यालय से लैपटॉप, डीवीआर और हार्ड डिस्क बरामद किया था, जिनमें 15-20 अश्लील वीडियो क्लिप पायी गयी थीं। पुलिस के अनुसार, इन वीडियो में आरोपी स्पष्ट तौर पर बच्चों के साथ अश्लील हरकत करता दिखाई दे रहा है। 
facebook twitter instagram