+

इस सिपाही ने दर्द में तड़प रही गर्भवती महिला को कांवड़ में बैठाकर अस्पताल पहुंचाकर पेश की इंसानियत की मिसाल

कभी-कभी ऐसा देखने को मिल जाता है जिसे देख अपने आप दिल को सुकून सा मिल जाता है। जी हां ऐसा ही तब भी हुआ जब छत्तीसगढ़ में एक पुलिसकर्मी ने गर्भवती महिला की मदद की। उसने महिला को कांवड़ में बैठाकर नाला पार करवाया।
इस सिपाही ने दर्द में तड़प रही गर्भवती महिला को कांवड़ में बैठाकर अस्पताल पहुंचाकर पेश की इंसानियत की मिसाल
कभी-कभी ऐसा देखने को मिल जाता है जिसे देख अपने आप दिल को सुकून सा मिल जाता है। जी हां ऐसा ही तब भी हुआ जब छत्तीसगढ़ में एक पुलिसकर्मी ने गर्भवती महिला की मदद की। उसने महिला को कांवड़ में बैठाकर नाला पार करवाया।


क्या है माजरा?

यह मामला छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले के वनांचल क्षेत्र में पड़ने वाले पीतरडांड गांव का है। दरअसल  4 अगस्त को गांव की रहने वाली एक गर्भवती महिला को अचानक से लेबर दर्द होने लगा। ऐसे में महिला को दर्द में तड़पते हुए देख हुए परिजन और आसपास के लोग काफी ज्यादा दुखी हो गए। उन्होंने 112 पर फोन लगाया और थाने से कुछ पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे। उन्होंने देखा कि महिला की हालत नाजुक है और उसे जल्द से जल्द अस्पताल पहुंचाने की जरूरत थी।


इतना ही नहीं  रास्ते में एक बड़ा नाला भी था जिस वजह से महिला का घर से बाहर निकलना नामुमकिन हो रहा था। ऐसे में सिपाही सुखदेव उरांव ने एक दिल छू देने वाला काम किया और उन्होंने डंडे में रस्सी बांधकर कांवड़ बनाया। उसकी मदद से गर्भवती महिला को नाला पार कराया। उन्होंने महिला को उसमें बैठाया और आसानी से ही नाला पार करवा दिया।

 सिपाही के इस तरह कोशिश करने के कारण महिला समय रहते अस्पताल पहुंचा दिया गया साथ ही उसका इलाज भी हो गया। फिलहाल वो ठीक है। वैसे सुखदेव ने वाकई एक नेक काम किया है। एक तरह से उन्होंने इंसानियत दिखाई और वर्दी में इस नेक काम को अंजाम दिया। 


facebook twitter