विभिन्न नेताओं ने इसरो के वैज्ञानिकों से कहा- दिल छोटा न करें

विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने शनिवार को इसरो के वैज्ञानिकों के समर्पण और जुनून की तारीफ करते हुए उनसे निराश न होने के लिए कहा। गौरतलब है कि ‘चंद्रयान-2’ के लैंडर ‘विक्रम’ का चांद पर उतरते समय जमीनी स्टेशन से संपर्क टूट गया। सपंर्क तब टूटा जब लैंडर चांद की सतह से 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई पर था। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को इसरो वैज्ञानिकों से कहा कि वह चंद्रयान-2 मिशन में आयी बाधाओं से दिल छोटा न करें और उन्होंने कहा कि एक "नयी सुबह होगी और बेहतर कल होगा।" मोदी ने बेंगलुरु में इसरो केंद्र में अपने भाषण में कहा, ‘‘हम बहुत करीब पहुंच गए थे लेकिन अभी हमें और आगे जाना होगा। 


आज से मिली सीख हमें और मजबूत तथा बेहतर बनाएगी। देश को हमारे अंतरिक्ष कार्यक्रमों और वैज्ञानिकों पर गर्व है। हमारे अंतरिक्ष कार्यक्रम में अभी सर्वश्रेष्ठ होना बाकी है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘प्रयास सार्थक रहे और यात्रा भी। यह हमें और मजबूत तथा बेहतर बनाएगी। एक नयी सुबह होगी और बेहतर कल होगा। मैं आपके साथ हूं, देश आपके साथ है।’’ 

गृह मंत्री एवं भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि चंद्रयान-2 के साथ इसरो की अब तक की उपलब्धियों ने हर भारतीय को गौरवान्वित किया है। उन्होंने ट्वीट किया, "भारत इसरो के अपने प्रतिबद्ध और कठोर परिश्रमी वैज्ञानिकों के साथ खड़ा है। भविष्य के लिए मेरी शुभकामनाएं हैं।"


कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इसरो वैज्ञानिकों की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने मिशन पर बेहतरीन काम किया तथा कई और महत्वपूर्ण एवं महत्वाकांक्षी अंतरिक्ष मिशनों की नींव रखी है। गांधी ने ट्वीट किया, "इसरो को ‘चंद्रयान-2’ मिशन पर उसके बेहतरीन कार्य के लिए बधाई। आपका समर्पण हर भारतीय के लिए एक प्रेरणा है। आपका काम व्यर्थ नहीं जाएगा। इसने कई और महत्वपूर्ण तथा महत्वाकांक्षी भारतीय अंतरिक्ष मिशनों की नींव रखी है।"


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पूरे देश को वैज्ञानिकों गर्व है। वहीँ,  मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, ‘‘हमें अपने वैज्ञानिकों पर बहुत गर्व है। वे अपनी दूरदृष्टि, प्रतिबद्धता और लगन के साथ हमारे लिए चिरस्थायी प्रेरणा के स्रोत रहे हैं।’’ उसने कहा, ‘‘इसरो अध्यक्ष ने चंद्रयान-2 पर जानकारियां दीं। मुझे भरोसा है कि हम अपने अंतरिक्ष कार्यक्रम में बेहतर करते रहेंगे।’’ 


दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वैज्ञानिकों से दिल छोटा न करने के लिए कहा। उन्होंने कहा, ‘‘हमें अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है। उन्होंने इतिहास बना दिया। दिल छोटा करने की जरूरत नहीं है। हमारे वैज्ञानिकों ने काफी अच्छा काम किया है।’’ 


माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने भरोसा जताया कि अगले कदम ‘‘अधिक संतोषजनक’’ होंगे। उन्होंने कहा, ‘‘हमारी वैज्ञानिक उपलब्धियों के इतिहास ने दिखाया कि कैसे लड़ाई और संघर्ष जारी रहा है। शाबाशी कि इसरो और हमारे वैज्ञानिक हमें इतनी दूर ले आए।’’ 


केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि अभी तक चंद्रयान-2 का सफर किसी उपलब्धि से कम नहीं रहा। उन्होंने कहा, ‘‘हमें अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है और भरोसा है कि भारत का अंतरिक्ष कार्यक्रम यहां से और मजबूत तथा बेहतर होगा। इसरो की टीम एक गौरवान्वित, आभारी और प्रेरित राष्ट्र आपके साथ खड़ा है।’’ 


केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने इसरो के वैज्ञानिकों की तारीफ की और भरोसा जताया कि वे मौजूदा बाधाओं से उबर जाएंगे। एक फेसबुक पोस्ट में विजयन ने कहा कि इसरो के वैज्ञानिकों का समर्पण ‘‘सराहनीय’’ था। उन्होंने कहा, ‘‘वे मौजूदा बाधाओं से उबर सकते हैं। विश्वास के साथ आगे बढ़ने और भविष्य में ऊंचाइयों को छूने के लिए उन्हें शुभकामनाएं।’’ 

Tags : Narendra Modi,कांग्रेस,Congress,नरेंद्र मोदी,राहुल गांधी,Rahul Gandhi,punjabkesri ,leaders,scientists,ISRO