+

राष्ट्र को खंडित करने का ख्वाब देखने वालों की जगह जेल होगी : सिद्धार्थनाथ सिंह

स्वैच्छिक आजादी भारत से ले सकता है। उन्होंने कहा कि जेएनयू,एएमयू और अन्य स्थानों पर आजादी का नारा लगाने वालों कों भ्रमित होने के बजाय संविधान पढ़ लेना चाहिये।
राष्ट्र को खंडित करने का ख्वाब देखने वालों की जगह जेल होगी : सिद्धार्थनाथ सिंह
उत्तर प्रदेश के खादी ग्रामोद्योग, रेशम उद्योग,वस्त्र उद्योग मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि राष्ट्र को खंडित करने का ख्वाब देखने वालों की जगह जेल होगी। 

रविवार को 71 वें गणतंत्र दिवस पर पर परेड की सलामी लेने के बाद गोण्डा के जिला प्रभारी श्री सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि आजादी के नारे लगाकर राष्ट्र को खंडित करने का ख्वाब देखने वालों की जगह जेल में होगी। उन्होंने अलीगढ़ मुस्लिम विश्विविद्यालय के छात्र नेता शरजील इमाम के असम को देश के अलग करने के बयान पर कहा कि उसे जल्द ही जेल होगी। 

उन्होंने कहा कि अगर कोई आजादी चाहता है तो उसे पूर्ण रूप से संवैधानिक छूट है, वो चाहे तो स्वैच्छिक आजादी भारत से ले सकता है। उन्होंने कहा कि जेएनयू,एएमयू और अन्य स्थानों पर आजादी का नारा लगाने वालों कों भ्रमित होने के बजाय संविधान पढ़ लेना चाहिये। 

श्री सिंह ने कहा कि पूर्व में सरकारों में शामिल रहे राजनीतिक दलों ने जानबूझ कर राजनीतिक लाभ के लिये भारत के टुकड़ करने की दूषित मंशा रखने वालों का साथ दिया जो दुर्भाज्ञपूर्ण है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकारें कोई राजनीतिक खेल नहीं खेल रही बल्कि संविधान के दायरे में रहकर देशद्रोहियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर रहीं है। उन्होंने विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुये कहा कि कांग्रेस शाहिनबाग के प्रदर्शन में फंडिंग कर रही है और अन्य विपक्षी दल तुष्टिकरण की राजनीति कर उनका साथ दे रहीं है। 

उन्होंने आजादी के नारे लगाने वालों को सलाह देते हुये कहा कि उन्हें भारतीय बनना चाहिये क्योंकि वर्तमान सरकार को संविधान को फासीवाद की संज्ञा देने वालों को मुंहतोड़ जवाब देना आता है। श्री सिंह ने दिल्ली विधानसभा चुनाव का जिक्र करते हुए वहां के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर वोट बैंक की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि जनता जल्द ही उन्हें सबक सिखायेगी।
facebook twitter