+

केंद्र के ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं वाले दावे पर भड़कीं प्रियंका, कहा-मौतें इसलिए हुईं, क्योंकि.....

केंद्र का कहना है कि महामारी की दूसरी लहर के दौरान किसी भी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश से ऑक्सीजन के अभाव में किसी भी मरीज की मौत की खबर नहीं मिली है।
केंद्र के ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं वाले दावे पर भड़कीं प्रियंका, कहा-मौतें इसलिए हुईं, क्योंकि.....
कोरोना महामारी की दौरान ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों को लेकर केंद्र सरकार ने जो तथ्य सामने रखा, उसने सबको हैरान कर दिया। केंद्र का कहना है कि महामारी की दूसरी लहर के दौरान किसी भी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश से ऑक्सीजन के अभाव में किसी भी मरीज की मौत की खबर नहीं मिली है। सरकार के इस दावे पर भड़कते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने केंद्र पर निशाना साधा। 
प्रियंका ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘‘ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई : केंद्र सरकार।’’ कोरोना से हुई मौतों को लेकर केंद्र सरकार के जवाब पर कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘‘मौतें इसलिए हुईं, क्योंकि महामारी वाले साल में सरकार ने ऑक्सीजन निर्यात 700 प्रतिशत तक बढ़ा दिया, क्योंकि सरकार ने ऑक्सीजन ट्रांसपोर्ट करने वाले टैंकरों की व्यवस्था नहीं की।’’ 
उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘एंपावर्ड ग्रुप और संसदीय समिति की सलाह को नजरंदाज कर ऑक्सीजन उपलब्ध कराने का कोई इंतजाम नहीं किया। अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाने में कोई सक्रियता नहीं दिखाई।’’ 
दरअसल, केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने मंगलवार सदन को बताया कि कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के दौरान किसी भी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश से ऑक्सीजन के अभाव में किसी भी मरीज की मौत की खबर नहीं मिली है। 
उन्होंने यह भी बताया ‘‘बहरहाल, कोविड महामारी की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की मांग अप्रत्याशित रूप से बढ़ गई थी। महामारी की पहली लहर के दौरान, इस जीवन रक्षक गैस की मांग 3095 मीट्रिक टन थी जो दूसरी लहर के दौरान बढ़ कर करीब 9000 मीट्रिक टन हो गई।’’ 
facebook twitter instagram