+

पंजाब : कांग्रेस ने भगवंत मान पर लगाया वादाखिलाफी का आरोप, पूछा- क्या हुआ उन उपदेशों का ?

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने हाल ही में पंजाब सरकार कि डोर पकड़ी है। जब पंजाब के चुनाव हो रहे थे भगवत मान ने वीआईपी संस्कृति के खिलाफ अपने चुनावी भाषणों में जोर शोर से हटाने को कहा था।
पंजाब : कांग्रेस ने भगवंत मान पर लगाया वादाखिलाफी का आरोप, पूछा- क्या हुआ उन उपदेशों का ?
पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने हाल ही में पंजाब सरकार कि डोर पकड़ी है।  जब पंजाब के चुनाव हो रहे थे भगवत मान ने वीआईपी संस्कृति के खिलाफ अपने चुनावी भाषणों में जोर शोर से हटाने को कहा था। वहीं सूचना के अधिकार से मिली जानकारी के मुताबिक भगवंत मान के काफिले में 42 कारें बताई जा रही है। जो पिछले तीन रहे मुख्यमंत्रियों के तुलना में काफी ज्यादा है। जिसे लेकर विपक्षी दलों ने भगवंत मान को सवालो में घेर लिए है और वादाखिलाफी का आरोप लगाया है। कांग्रेस नेता प्रताप सिंह बाजवा का मानना है कि भगवंत मान के खिलाफ रहस्यों के खुलासों में यह एक कड़ी है।
तीन पूर्ववर्तियों की तुलना में अधिक वाहन 
सूचना के अधिकार के अनुसार मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के काफिले में उनके पिछले तीन पूर्ववर्तियों की तुलना में अधिक वाहन हैं। कांग्रेस नेता प्रताप सिंह बाजवा ने एक सूचना का अधिकार अधिनियम के जवाब का हवाला देते हुए दावा किया कि मान के काफिले में 42 कारें हैं - जो पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्रियों प्रकाश सिंह बादल, अमरिंदर सिंह और चरणजीत सिंह चन्नी का कार्यकाल चन्नी से काफी अधिक है।
बाजवा ने ट्वीट किया, "चौंकाने का खुलासा है। मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के पास 2007-17 तक अपने काफिले में 33 वाहन थे और कैप्टन अमरिंदर एस के मुख्यमंत्री बनने पर वाहनों की संख्या में कोई बदलाव नहीं हुआ लेकिन, आरटीआई के माध्यम से यह खुलासा हुआ है कि सीएम भगवंत मान के काफिले में 42 कारें हैं।"20 सितंबर 2021 से 16 मार्च 2022 तक मुख्यमंत्री के रूप में चरणजीत सिंह चन्नी के काफिले में 39 कारें थीं.

facebook twitter instagram