+

मोदी सरकार के कृषि बिल के विरोध में पंजाब के किसान ने खाया जहर, हालत गंभीर

पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के घर के बाहर धरने पर बैठे किसानों में से प्रीतम सिंह नाम के किसान ने आज सुबह 6 बजकर 30 मिनट पर जहर पी लिया।
मोदी सरकार के कृषि बिल के विरोध में पंजाब के किसान ने खाया जहर, हालत गंभीर
मोदी सरकार के कृषि संबंधी विधयक के खिलाफ देश के किसानों का विरोध बढ़ता जा रहा है। शिरोमणि अकाली दल के विरोध के बावजूद लोकसभा में दो कृषि विधेयकों के पारित कर दिया गया। विधयक के विरोध में शुक्रवार को एक किसान ने जहर खाकर आत्महत्या का प्रयास किया। 
दरअसल, पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के घर के बाहर धरने पर बैठे किसानों में से प्रीतम सिंह नाम के किसान ने आज सुबह 6 बजकर 30 मिनट पर जहर पी लिया। जिसके बाद प्रीतम सिंह को सबसे पहले बादल गांव के ही एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालत बिगड़ने पर उन्हें बठिंडा के मैक्स हॉस्पिटल में ले जाया गया है। 

राष्ट्रपति ने हरसिमरत कौर बादल का इस्तीफा किया स्वीकार, इन्हें सौंपा गया अतिरिक्त प्रभार

भारतीय किसान यूनियन (एकता उगराहां) के राज्य सचिव शिंगारा सिंह मान ने कहा कि 60 वर्षीय किसान प्रीतम सिंह लोकसभा में कृषि विधेयकों के पारित होने पर परेशान थे। किसान को डर था कि बिल किसानों के खिलाफ होगा। किसान की हालत गंभीर बताई गई है। 
केंद्र सरकार द्वारा लाए गए विधेयकों के खिलाफ पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के आवास के ठीक बाहर बादल गांव में किसान प्रदर्शन कर रहे हैं। नरेंद्र मोदी सरकार में अकाली दल की एकमात्र मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने इन विधेयकों के विरोध में गुरुवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया। 
केंद्रीय मंत्रिमंडल से मंत्री के इस्तीफा देने के निर्णय की घोषणा करते हुए, एसएडी अध्यक्ष सुखबीर बादल ने कहा कि पार्टी सरकार और भाजपा को समर्थन देना जारी रखेगी, लेकिन किसान विरोधी नीतियों का विरोध करेगी।
facebook twitter