+

राफेल के वायुसेना में शामिल होने पर बोले राजनाथ- देश की संप्रभुता की ओर उठी निगाहों के लिए कड़ा संदेश

रक्षा मंत्री राजनाथ ने कहा कि राफेल का भारतीय वायुसेना में शामिल होना भारत और फ्रांस के बीच मजबूत संबंधों का भी प्रतिनिधित्व करता है। हमारे दोनों देशों के बीच रणनीतिक संबंध भी मजबूत हुए हैं।
राफेल के वायुसेना में शामिल होने पर बोले राजनाथ- देश की संप्रभुता की ओर उठी निगाहों के लिए कड़ा संदेश
फ्रांस से खरीदा गया बहुप्रतिक्षीत अत्याधुनिक लड़ाकू विमान राफेल गुरूवार को औपचारिक रूप से वायुसेना के बेड़े में शामिल हो गया है। आज का दिन देश के हर नागरिक के लिए गर्व का दिन है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली की मौजूदगी में वाटर कैनेन से सलामी देकर राफेल विमानों को वायुसेना के बेड़े में शामिल किया गया।
इस दौरान दुश्मन देशों को चेताते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हमारी संप्रभुता की ओर उठी निगाहों के लिए राफेल एक “बड़ा और कड़ा” संदेश है। रक्षा मंत्री ने कहा कि राफेल का भारतीय वायुसेना में शामिल होना भारत और फ्रांस के बीच मजबूत संबंधों का भी प्रतिनिधित्व करता है। हमारे दोनों देशों के बीच रणनीतिक संबंध भी मजबूत हुए हैं। 
राफेल विमान को गेम चेंजर बताते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, आज राफेल पूरी दुनिया, ख़ासकर हमारी संप्रभुता की ओर उठी निगाहों के लिए एक “बड़ा और कड़ा” संदेश है। हमारी सीमाओं पर जिस तरह का माहौल हाल के दिनों में बना है, या मैं सीधा कहूँ कि बनाया गया है, उनके लिहाज़ से राफेल का भारतीय वायुसेना में शामिल होना बहुत अहम है।
उन्होंने कहा कि हमारी नेशनल सिक्योरिटी पीएम मोदी की बड़ी प्राथमिकता रही है। राफेल को पाने में कई अड़चनें भी आईं, मगर पीएम मोदी की इच्छाशक्ति के आगे सभी बाधाएं खत्म हो गईं और आज राफेल हमारे सामने है। जिस ताकत को आज हम अपनी आँखों से देख पा रहे हैं, उसे पाने की राह में अनेक अड़चने भी आईं। परन्तु प्रधानमंत्री मोदी की मजबूत इच्छाशक्ति के सामने वे सभी नेस्तनाबूत होती गईं, और हमारा मार्ग प्रशस्त होता गया।
उन्होंने कहा, अपनी हालिया विदेश यात्रा में, मैंने भारत के दृष्टिकोण को दुनिया के सामने रखा। मैंने सभी को किसी भी परिस्थिति में अपने देश की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता से समझौता नहीं करने के अपने संकल्प के बारे में अवगत कराया। हम इसके लिए हर संभव कोशिश करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।
मैं आज यहां भारतीय वायु सेना के साथियों को बधाई देना चाहूँगा की, सीमा पर हाल में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के दौरान, LAC के पास भारतीय वायुसेना ने जिस तेजी और सूझ-बूझ से कार्रवाई की, वह आपकी प्रतिबद्धता को दिखाता है। भारतीय वायुसेना ने अग्रिम इलाकों पर जिस तेजी से अपने एसेट्स तैनात किए, वह एक भरोसा पैदा करता है, कि हमारी वायुसेना अपने दायित्वों को पूरा करने के लिए पूरी तरह तैयार है।
facebook twitter