+

हाथरस केस में राहुल ने UP सरकार को घेरा, पीड़ित पर आक्रमण और अपराधियों की मदद का लगाया आरोप

अपने हाथरस जाने से जुड़े घटनाक्रम का उल्लेख करते हुए राहुल गांधी ने कहा, "मैं समझ नहीं पा रहा था कि मुझे उस परिवार से क्यों मिलने नहीं दिया जा रहा है।"
हाथरस केस में राहुल ने UP सरकार को घेरा, पीड़ित पर आक्रमण और अपराधियों की मदद का लगाया आरोप
हाथरस कांड को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार प्रदेश की बीजेपी सरकार पर हमला कर रहे है। सोमवार को एक बार फिर योगी सरकार को निशाने पर लेते हुए राहुल ने आरोप लगाया कि सरकार ने पीड़िता के परिवार से उनकी मुलाकात के बाद इस पीड़ित पक्ष पर आक्रमण किया और अपराधियों की मदद की। 
कांग्रेस की ओर से ‘स्पीकअप फॉर वूमेन सेफ्टी’ हैशटैग से चलाए गए सोशल मीडिया अभियान के तहत वीडियो जारी कर राहुल गांधी ने यह भी कहा कि महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए लोग सरकार पर दबाव बनाएं। उन्होंने दावा किया, ‘‘ हाथरस घटना में सरकार का रवैया अमानवीय और अनैतिक है। वे पीड़ित परिवार की मदद करने की बजाए अपराधियों की रक्षा करने में लगे हैं।’’ 
अपने हाथरस जाने से जुड़े घटनाक्रम का उल्लेख करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘ मैं समझ नहीं पा रहा था कि मुझे उस परिवार से क्यों मिलने नहीं दिया जा रहा है। आखिर उस परिवार की बेटी की हत्या हुई थी और बलात्कार हुआ था। मैं जैसे ही परिवार से मिला और बातचीत शुरू की, उसके बाद सरकार ने परिवार पर आक्रमण शुरू कर दिया।’’
उन्होंने कहा ‘‘अपराधियों की मदद करना सरकार का काम नहीं होता, अपराधियों की रक्षा करना सरकार काम नहीं होता। सरकार का काम पीड़ितों को न्याय देने और अपराधियों को सजा दिलाने का होता है। यह काम उप्र सरकार नहीं कर रही है, इसीलिए मुझे रोका जा रहा था।’’ 
राहुल गांधी ने इस बात पर जोर दिया, ‘‘मैं सरकार से कहना चाहता हूं कि आप अपराधियों को जेल में डालने और पीड़ितों की रक्षा करने का काम शुरू करिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह सिर्फ एक महिला की कहानी नहीं है। यह लाखों महिलाओं की कहानी है। ये महिलाएं सरकार की ओर देख रही हैं और सरकार अपना काम नहीं कर रही है। हमें समाज को बदलना है क्योंकि हमारी माताओं और बहनों के साथ इस समाज में जो किया जाता है वो सरासर अन्याय है।’’ 
इस अभियान के तहत कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने ट्वीट किया, ‘‘महिलाओं पर अपराध बढ़ रहे हैं। इस बीच, पीड़ित महिलाओं की सच्चाई और उनकी आवाज को सुनने की बजाय उन्हीं को बदनाम कराना, उन्हीं पर आरोप लगाना सबसे शर्मनाक और बुज़दिल हरकत है। लेकिन देश की महिलाएं अब चुप नहीं रहेंगी।’’ 
उन्होंने कहा, ‘‘एक बहन को दोषी ठहराया गया तो लाखों बहनें अपनी आवाज बुलंद करेंगी और उनके साथ खड़ी होंगी। हम अपना ज़िम्मा खुद ले रहे हैं। अब महिलाओं को ही महिला सुरक्षा का जिम्मा उठाना होगा।’’ कांग्रेस के कई अन्य नेताओं ने इस अभियान के तहत अपने विचार साझा किए और हाथरस की घटना को लेकर उप्र की बीजेपी सरकार पर निशाना साधा। 
facebook twitter instagram