+

राहुल गांधी का केंद्र पर तंज, कहा- संक्रमण की गंभीर स्थिति में जिनकी जवाबदेही है वो छिपे बैठे हैं

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश में कोरोना वायरस संक्रमण की गंभीर स्थिति को लेकर बुधवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि जिनकी जवाबदेही है, वो कहीं छिपे बैठे हैं।
राहुल गांधी का केंद्र पर तंज, कहा- संक्रमण की गंभीर स्थिति में जिनकी जवाबदेही है वो छिपे बैठे हैं
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश में कोरोना वायरस संक्रमण की गंभीर स्थिति को लेकर बुधवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि जिनकी जवाबदेही है, वो कहीं छिपे बैठे हैं। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘बार-बार दुखद समाचार आते जा रहे हैं। बुनियादी समस्याएं अभी तक सुलझाई नहीं गयी हैं। इस महामारी में केंद्र सरकार की क्रूरता को हमारे देशवासी कब तक झेलेंगे? जिनकी जवाबदेही है, वो कहीं छुपे बैठे हैं।’’
गांधी ने एक खबर का हवाला देते हुए यह आरोप भी लगाया कि सकारात्मक सोच की झूठी तसल्ली देना देशवासियों के साथ धोखा है। उन्होंने कहा, ‘‘सकारात्मक सोच की झूठी तसल्ली स्वास्थ्य कर्मचारियों एवं उन परिवारों के साथ मज़ाक़ है जिन्होंने अपनों को खोया है और जो ऑक्सीजन-अस्पताल-दवा की कमी झेल रहे हैं।
रेत में सिर डाले रखना सकारात्मकता नहीं, देशवासियों के साथ धोखा है।’’ कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने ट्वीट किया, ‘‘भारत सबसे बड़ा टीका उत्पादक देश है। भाजपा सरकार ने 12 अप्रैल को टीका उत्सव मना दिया, लेकिन टीके की कोई व्यवस्था नहीं की और इन 30 दिनों में हमारे टीकाकरण में 82 फीसदी की गिरावट आई।’’
उन्होंने सवाल किया, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी टीका बनाने वाली कंपनियों में गए, उन्होंने फोटो भी खिंचाई मगर उनकी सरकार ने टीके का पहला ऑर्डर जनवरी 2021 में क्यों दिया? अमेरिका और अन्य देशों ने हिंदुस्तानी टीका कंपनियों को बहुत पहले ऑर्डर दे रखा था।
इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा?’’ उन्होंने कहा कि घर-घर टीका पहुंचाए बिना कोरोना वायरस महामारी से लड़ना असंभव है। गौरतलब है कि देश में बुधवार को एक दिन में कोविड-19 के 3,48,421 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,33,40,938 हो गई। साथ ही, 4,205 और लोगों की संक्रमण से मौत के बाद मृतक संख्या अब 2,54,197 हो गई।
facebook twitter instagram