+

MAKE IN INDIA पर जोर देने के लिये रेलवे ने 44 जोड़ी वंदे भारत ट्रेनों की नयी निविदा जारी की

रेलवे ने अगस्त में एक महीने पहले जारी की गई वैश्विक निविदा (टेंडर) रद्द कर दी थी। दरअसल, यह बात सामने आई थी कि निविदा में बोली लगाने वाली छह कंपनियों में से एक सीआरआरसी पायोनियर इलेक्ट्रिक थी जि​समें चीन की सीआरआरसी की संयुक्त साझेदारी है
MAKE IN INDIA पर जोर देने के लिये रेलवे ने 44 जोड़ी वंदे भारत ट्रेनों की नयी निविदा जारी की
रेलवे ने 44 जोड़ी वंदे भारत ट्रेनों के विनिर्माण के लिये नई घरेलू निवादा जारी की है, जिसमें केवल भारत में पंजीकृत कंपनियां ही बोली लगा सकती हैं। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। 

रेलवे ने अगस्त में एक महीने पहले जारी की गई वैश्विक निविदा (टेंडर) रद्द कर दी थी। दरअसल, यह बात सामने आई थी कि निविदा में बोली लगाने वाली छह कंपनियों में से एक सीआरआरसी पायोनियर इलेक्ट्रिक थी जि​समें चीन की सीआरआरसी की संयुक्त साझेदारी है। रेलवे के प्रवक्ता ने बताया, 'संशोधित टेंडर भारत सरकार की मेक इन इंडिया नीति की प्राथमिकता के अनुरूप है।' 

यह टेंडर आगे बढ़ाने, नियंत्रण और अन्य उपकरणों के साथ-साथ 44 जोड़ी ट्रेन के डिब्बों के लिए है।  मंत्रालय ने यह भी बताया कि बोली से पहले टेंडर के लिये बैठक 29 सितंबर को होगी और इसे (टेंडर को) 17 नवंबर को खोला जायेगा। बोली दस्तावेज में कहा गया है कि इन ट्रेनों का विनिर्माण इंटीग्रल कोच फैक्ट्री चेन्नई, रेल कोच फैक्ट्री कपूरथला, तथा मोडर्न कोच फैक्ट्री रायबरेली में किया जायेगा। 

facebook twitter