+

राजस्थान के डिप्टी सीएम पायलट ने कहा, श्रमिकों को रोजगार प्रदान करना सरकार का प्रमुख लक्ष्य

राजस्थान के डिप्टी सीएम पायलट ने कहा, श्रमिकों को रोजगार प्रदान करना सरकार का प्रमुख लक्ष्य
पूरे देशभर मे फैले कोरोना वायरस की वजह से लाखों श्रमिकों के हाथों से रोजगार चला गया। श्रमिकों को रोजगार देने के लिए केंद्र और राज्यों के बीच आपसी राजनीति लगातार चली आ रही है। इस बीच, राजस्थान के डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने मंगलवार को कहा कि सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से करवाए जा रहे सड़क विकास तथा अन्य कार्यों से प्रदेशभर में वर्तमान में 19 हजार से अधिक श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराया जा चुका है। उन्होंने कहा कि श्रमिकों को राहत प्रदान करना हमारा प्रमुख लक्ष्य है।

पायलट ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान प्रदेश में सड़क विकास के विभिन्न कार्यों को बंद करना पड़ा था। संशोधित लॉकडाउन में अनुमति मिलते ही रुके हुए कार्यों को फिर से शुरू करने के प्रयास किए गए ताकि लॉकडाउन के कारण उत्पन्न प्रतिकूल परिस्थितियों में अधिक से अधिक श्रमिकों को शीघ्र रोजगार मिल सके। 

उपमुख्यमंत्री पायलट ने कहा कि 20 अप्रैल के बाद से ही करीब 3700 करोड़ रुपये की लागत के लगभग 8590 किलोमीटर लम्बाई की सड़कों के 2678 विकास कार्य करवाए जाने की योजना पर काम किया गया है जिसके तहत प्रदेशभर में अब तक 746 कार्य शुरू करवाए जा चुके हैं। 

उन्होंने बताया कि इन कार्यों में सर्वाधिक कार्य सड़क निर्माण एवं विकास के हैं। साथ ही राष्ट्रीय राजमार्ग, पीपीपी व भवन संबंधित कार्य तथा विद्युत शाखा में भी बड़ी संख्या में कार्य शुरू किए गए हैं। सार्वजनिक निर्माण विभाग मंत्री ने कहा कि संकट की इस घड़ी में ऐसे कार्यों को प्राथमिकता दी जाएगी जिनसे अधिक से अधिक श्रमिकों को राहत मिल सके।

facebook twitter