+

पत्रकार राजीव शर्मा ने जासूसी कर डेढ़ साल में कमाए 40 लाख रुपये, हर जानकारी के बदले मिले 1000 डॉलर

दिल्ली पुलिस ने शनिवार को बताया कि गिरफ्तार फ्रीलांस पत्रकार राजीव शर्मा सीमा पर भारतीय रणनीति और सैनिकों की तैनाती संबंधी संवेदनशील जानकारी कथित तौर पर चीन के खुफिया विभाग को दे रहा था।
पत्रकार राजीव शर्मा ने जासूसी कर डेढ़ साल में कमाए 40 लाख रुपये, हर जानकारी के बदले मिले 1000 डॉलर
दिल्ली पुलिस ने शनिवार को बताया कि गिरफ्तार फ्रीलांस पत्रकार राजीव शर्मा सीमा पर भारतीय रणनीति और सैनिकों की तैनाती संबंधी संवेदनशील जानकारी कथित तौर पर चीन के खुफिया विभाग को दे रहा था। 
एक संवाददाता सम्मेलन में दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ के उपायुक्त संजीव कुमार यादव ने बताया कि शर्मा कुछ भारतीय मीडिया संगठनों के साथ-साथ चीन के ग्लोबल टाइम्स अखबार के लिए भी रक्षा मामलों पर लिखता था। 
पुलिस बताया कि चीनी खुफिया एजेंटों ने कथित तौर पर 2016 में उससे संपर्क किया था। शर्मा कुछ चीनी खुफिया अधिकारियों के संपर्क में भी था। उन्होंने दावा किया कि फ्रीलांस पत्रकार को “गत डेढ़ साल में 40 लाख रुपये मिले। उसे प्रत्येक सूचना के बदले एक हजार अमेरिकी डॉलर (मौजूदा विनिमय दर के हिसाब से करीब 73 हजार रुपये) मिलते थे।” 
पुलिस उपायुक्त ने बताया कि केंद्रीय खुफिया एजेंसी की सूचना के आधार पर शर्मा को 14 सितंबर को गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने उसके पास से रक्षा मंत्रालय के जुड़े गोपनीय दस्तावेज भी बरामद किए हैं। 
उन्होंने बताया कि शर्मा को फर्जी कंपनी के जरिये बड़ी राशि देने के आरोप में एक चीनी महिला और उसके नेपाली साथी को भी गिरफ्तार किया गया है।
Tags : ,Rajiv Sharma,half,Delhi Police,Rajeev Sharma,troops,deployment,intelligence department,border,China,Indian
facebook twitter