+

राम मंदिर भूमि पूजन: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा- राम मंदिर राष्ट्रीय एकता का प्रतीक बने

प्रियंका ने कहा, भारतीय उपमहादेश और विश्व में सभी के मन पर रामायण की छाप है और भगवान राम, सीता की कहानी और राम का नाम मानवता से जोड़ने का एक उत्प्रेरक है। कांग्रेस प्रवक्ता व सांसद मनीष तिवारी ने भी इस ऐतिहासिक अवसर पर देश के लोगों को बधाई दी।
राम मंदिर भूमि पूजन: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा- राम मंदिर राष्ट्रीय एकता का प्रतीक बने
राम की नगरी अयोध्या कल इतिहास रचने के लिए पूरी तरह से तैयार हो चुकी है। कल यानी बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर का भूमि पूजन करेंगे। इस बीच, राम मंदिर को लेकर सियासत भी लगतार तेज होती जा रही है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने राम मंदिर का निर्माण शुरू करने के लिए बुधवार को अयोध्या में भूमि पूजन समारोह आयोजित किए जाने का स्वागत किया है।

प्रियंका ने अपने बयान में कहा, 5 अगस्त को भूमि पूजन का कार्यक्रम तय है। इस कार्यक्रम को प्रभु श्रीराम के आशीष और उनके उपदेशों के साथ राष्ट्रीय एकता, भाईचारे और सांस्कृतिक संगम का प्रतीक बनना चाहिए। प्रियंका का यह बयान तब आया है, जब कांग्रेस के कई नेता राम मंदिर निर्माण के समर्थन में खुलकर सामने आए हैं। पिछले हफ्ते गुरुवार को हुई रणनीति समिति की बैठक में उत्तर प्रदेश के नेताओं ने अपने विचार प्रकट किए थे। उन्होंने कहा था कि कांग्रेस को राम मंदिर के निर्माण का समर्थन करना चाहिए।

प्रियंका ने कहा, भारतीय उपमहादेश और विश्व में सभी के मन पर रामायण की छाप है और भगवान राम, सीता की कहानी और राम का नाम मानवता से जोड़ने का एक उत्प्रेरक है। कांग्रेस प्रवक्ता व सांसद मनीष तिवारी ने भी इस ऐतिहासिक अवसर पर देश के लोगों को बधाई दी।

कांग्रेस ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त करने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया था। कांग्रेस के नेता अब इसका श्रेय लेने के प्रयास में लगे हैं। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि दिवंगत प्रधानमंत्री राजीव गांधी चाहते थे कि राम मंदिर बने। बता दें कि सोमवार को, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या गए थे। उन्होंने राम मंदिर के लिए होने वाले भूमि पूजन समारोह की तैयारियों का जायजा लिया था।
facebook twitter