योग गुरु बाबा रामदेव बोले-महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दे पर काम करे सरकार

योग गुरु बाबा रामदेव ने देश की अर्थव्यवस्था और बेरोजगारी के मुद्दे को लेकर अपना बयान दिया है। उन्होंने अपने बयान में कहा कि सरकार को महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दे पर काम करना चाहिए। बाबा रामदेव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर साल 2020 के लिए अपने एजेंडे को सामने रखते हुए यह बात कही। 
योग गुरु रामदेव ने कहा, अभी देश में महंगाई और बेरोजगारी पर काम करना जरूरी है। विपक्ष को देश का फायदा देखना चाहिए और हर मुद्दे में राजनीति नहीं करनी चाहिए। एक वक्त था जब देश में लाखों-करोड़ों रुपये के घोटाले भी हुए हैं लेकिन हमें इसपर ध्यान देना होगा। उन्होंने कहा, मलेशिया, इंडोनेशिया जैसे देशों ने भारत को लेकर गलत बयान दिए, इसी वजह से भारत सरकार ने सख्त कार्रवाई की। आज भी देश में 50 हजार करोड़ से अधिक का निवेश विदेशी कंपनियों का है। 

BJP महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने खान-पान का तरीका देख मजदूरों को बताया बांग्लादेशी

उन्होंने कहा कि शिक्षा, व्यापार और संस्कृति के क्षेत्रों में अभी भी हम गुलामी का शिकार हो रहे हैं। जनसंख्या नियंत्रण के मसले पर उन्होंने कहा कि देश में जनसंख्या नियंत्रण को लेकर कदम बढ़ाने चाहिए क्योंकि जमीन या रिसॉर्स को बढ़ाना तो संभव नहीं है। रामदेव ने जेएनयू के छात्रों तथा राष्ट्रीय राजधानी के शाहीन बाग में पिछले 40 दिनों से नागरिकता संशोधन कानून को लेकर किए जा रहे आंदोलन को समाप्त करने की मांग की। 
उन्होंने कहा कि आंदोलन करना राजनीतिक दलों का काम है और हिंसा, अराजकता फैलाना और आंदोलन करना छात्रों का काम नहीं हैं। छात्रों का कार्य प्रतिभा निखारना और चरित्र निर्माण करना है। छात्रों को देश के विकास में अपनी ऊर्जा लगानी चाहिये। योग गुरु ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और शहीद भगत सिंह की ‘आजादी’ के नारे तो ठीक हैं लेकिन जिन्ना की ‘आजादी’ के नारे देश के साथ धोखा एवं गद्दारी के समान है।
Tags : Narendra Modi,कांग्रेस,Congress,नरेंद्र मोदी,राहुल गांधी,Rahul Gandhi,punjabkesri ,Baba Ramdev,Government,capital,Shaheen Bagh,JNU