+

रवि शंकर प्रसाद ने स्टार्टअप प्रतियोगिता ‘चुनौती’ की शुरुआत की, स्टार्टअप्स को मिलेगा बड़ा फायदा

इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने शुक्रवार को अगली पीढ़ी की स्टार्टअप प्रतियोगिता ‘चुनौती’ की शुरुआत की। यह प्रतियोगिता विशेषरूप से दूसरी श्रेणी के शहरों में स्टार्टअप और सॉफ्टवेयर विकास को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से शुरू की गई है।
रवि शंकर प्रसाद ने स्टार्टअप प्रतियोगिता ‘चुनौती’ की शुरुआत की, स्टार्टअप्स को मिलेगा बड़ा फायदा
इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने शुक्रवार को अगली पीढ़ी की स्टार्टअप प्रतियोगिता ‘चुनौती’ की शुरुआत की। यह प्रतियोगिता विशेषरूप से दूसरी श्रेणी के शहरों में स्टार्टअप और सॉफ्टवेयर विकास को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से शुरू की गई है। 
एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि तीन साल के दौरान चुनौती पर 95 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इस कार्यक्रम के तहत कुछ चुने हुए क्षेत्रों में कार्यरत करीब 300 स्टार्टअप्स की पहचान की जाएगी और उन्हें 25-25 लाख रुपये की शुरुआती पूंजी और अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। 
बयान में कहा गया, ‘‘केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री ने आज अगली पीढ़ी की स्टार्टअप प्रतियोगिता चुनौती की शुरुआत की। यह प्रतियोगिता स्टार्टअप तथा सॉफ्टवेयर विकास को प्रोत्साहन देगी। यह विशेषरूप से देश के दूसरी श्रेणी के शहरों पर केंद्रित होगी।’’ 
इस प्रतियोगिता के तहत मंत्रालय स्टार्टअप्स को एजु-टैक, एग्री-टेक और फिन-टेक जैसे क्षेत्रों में लोगों, आपूर्ति श्रृंखला, लॉजिस्टिक्स एवं परिवहन प्रबंधन के अलावा संरचना से जुड़े समाधान बनाने को आमंत्रित करेगा। इसके अलावा यह प्रतियोगिता चिकित्सा स्वास्थ्य सेवा, इलाज, बचाव, रोजगार और कौशल जैसे क्षेत्रों पर केंद्रित होगी। 
इस मौके पर एक वर्चुअल कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रसाद ने कहा, ‘‘मैं युवा, प्रतिभाशाली नवोन्मेषकों को आमंत्रित करता हूं कि वे आगे आएं और चुनौती प्रतियोगिता का लाभ उठाएं तथा नए सॉफ्टवेयर उत्पाद और ऐप विकसित करें।’’ 
facebook twitter