एक बार फिर यूपी उपचुनाव में सुर्खियों में आयी पीली साड़ी वाली ये महिला, यहां करेंगी ड्यूटी

बीते कुछ महीने पहले लोकसभा चुनाव के वक्त इंटरनेट पर पीली साड़ी वाली महिला चुनाव अधिकारी की फोटोज सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुई थी इतना ही नहीं यह महिला कुछ ही समय में सोशल मीडिया के हर एक प्लेटफॉर्म पर खूब सुर्खियां बटोरती नजर आई। 


लेकिन अब एक बार फिर ऐसा हो रहा है जब यूपी विधानसभा चुनाव की यह महिला चर्चा का विषय बनी हुई है। इस बार रीना द्विवेदी विधानसभा चुनाव में लखनऊ में कृष्णानगर के महानगर इंटर कॉलेज में ड्यूटी करेंगी। 



पीली साड़ी वाली महिला एक बार फिर चर्चा में

 पोलिंग अफसर के तौर पर रीना द्विवेदी जब रमाबाई मैदान में ईवीएम किट लेने पहुंची तब वह आकर्षण का केंद्र बनी हुई थीं। लोगों ने उनके साथ फोटो भी खीचीं। रीना द्विवेदी लोकसभी चुनाव के समय सुर्खियों में आई जब वो पीली साड़ी पहन कर चुनाव की ड्यूटी पर जाने के लिए ईवीएम किट लेने पहुंची थी। इसके बाद रीना इतना ज्यादा चर्चा में मशहूर हो गई कि लोग उन्हें पीली साड़ी वाली मैडम कहने लगे।


लखनऊ में करेंगी चुनावी ड्यूटी 

रीना द्विवेदी लखनऊ में पीडब्लूडी अधिकारी के रूप में तैनात हैं। उनकी पीली साड़ी वाली तस्वीर लोकसभ चुनाव के वक्त भी खूब चर्चा में बनी रही थी। लोग उनकी खूबसूरती के दीवाने भी हुए। इस दौरान यह भी कहा गया कि रीना मिस जयपुर भी रह चुकी हैं। 


जिसके बाद खुद रीना ने  इन बातों का खंडन किया और सभी को बताया कि ना वो मिस जयपुर रही और ना उन्होंने कभी इस तरह के किसी भी कॉम्पटीशन में हिस्सा लिया है। साथ ही उन्होंने बताया कि यह तस्वीरें उस समय की है जब वो मतदान केंद्र जा रही थी जो मीडियाकर्मियों द्घारा ली गई थी। 


रीना द्विवेदी देवरिया की रहने वाली हैं । ये लखनऊ के पीडब्लूडी विभाग में कनिष्ठ सहायक के पद पर तैनात हैं। इनकी शादी  पीडब्ल्यूडी विभाग में काम करने वाले सीनियर सहायक संजय द्विवेदी से साल 2004 में हुई थी।


लेकिन किसी वजह से साल  2013 में उनके पति की अचानक मौत हो गई, जिसके बाद उन्हें पति की जगह नौकरी दी गई। रीना का एक 13 साल की बेटा है। रीना का कहना है वो शुरू से ही फैशन ट्रेंड को फॉलो करती हैं।















Tags : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,Prime Minister Narendra Modi,कर्नाटक विधानसभा चुनाव,Karnataka assembly elections,यशवंतरपुर सीट,Yashvantpur seat ,lady,UP,elections,Lok Sabha,woman election officer