+

रिटायर्ड आईबी के एसीपी ने जॉब का झांसा देकर नाबालिग से किया दुष्कर्म, गिरफ्तार

ऑटो चालक से दोस्ती के बाद उसकी 17 वर्षीय बेटी को हवस का शिकार बनाने वाले आईबी के रिटायर्ड एसीपी को करोलबाग थाना पुलिस ने 2 महीने की मशक्कत के बाद गिरफ्तार कर लिया है।
रिटायर्ड आईबी के एसीपी ने जॉब का झांसा देकर नाबालिग से किया दुष्कर्म, गिरफ्तार
 नई दिल्ली, (पंजाब केसरी) ऑटो चालक से दोस्ती के बाद उसकी 17 वर्षीय बेटी को हवस का शिकार बनाने वाले आईबी के रिटायर्ड एसीपी को करोलबाग थाना पुलिस ने 2 महीने की मशक्कत के बाद गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने गिरफ्तार आरोपी की पहचान उत्तम नगर निवासी कैलाश चंद के रूप में की है। पुलिस ने आरोपी को वसंत विहार इलाके से गिरफ्तार किया है। कैलाश चंद इसी वर्ष जनवरी माह में रिटायर्ड हुआ है। आरोपी को एसएचओ करोलबाग मनीष जोशी की टीम में शामिल महिला एसआई प्रीति, हवलदार दिलशाद और सिपाही साजन आदि की टीम ने गिरफ्तार किया है।
पुलिस अधिकारियों के मुताबिक आरोपी की पीड़िता के पिता से करीब पिछले 6 साल से दोस्ती थी। आरोपी कैलाश चंद का उसके घर पर आना जाना था। उसने कई बार जरूरत पड़ने पर उसकी आर्थिक मदद भी की। इतना ही नहीं आरोपी ने उसकी नाबालिग बेटी की ब्यूटी पार्लर में नौकरी लगवा देने का भी आश्वासन दिया। गत 7 मार्च को खुद पीड़िता का पिता बेटी को मोती बाग मेट्रो स्टेशन पर आरोपी को सौंप कर चला गया। आरोपी पीड़ित किशोरी को ब्यूटी पार्लर के मालिक से मिलवाने के बहाने उसे करोलबाग स्थित एक होटल में ले गया। जहां आरोप है कि उसने पीड़िता को बंधक बनाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। इस बारे में किसी को कुछ भी बताने पर उसके माता पिता को जेल भिजवा देने की धमकी दी।
 घर पहुंच कर पीड़िता ने बताई आपबीती 
पीड़िता किशोरी जब घर पहुंची तो पिता ने उससे जॉब के बारे में पूछा। पीड़िता किशोरी काफी घबराई हुई थी। पिता ने उससे पूछताछ की तो वह टूट गई और उसने आरोपी अंकल कैलाश चंद की करतूत के बारे में बताया। पिता तुरंत बेटी को वसंत विहार थाने लेकर पहुंचा। जिसके बाद पीड़िता की काउंसलिंग कराई गई और मेडिकल कराया गया, क्योंकि पीड़िता के साथ करोलबाग स्थित एक होटल में दुष्कर्म हुआ था। जिसके चलते अगले ही दिन 8 मार्च को करोलबाग थाने में रेप और पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया गया। मगर एफआईआर दर्ज होने के बाद से ही आरोपी लगातार फरार चल रहा था और अदालत से अंतरिम जमानत लेने की कोशिश कर रहा था। पुलिस लगातार उसके संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही थी। इसी बीच आरोपी की धरपकड़ में जुटी एसएचओ मनीष जोशी के नेतृत्व में एसआई प्रीति, हवलदार दिलशाद और सिपाही साजन की टीम को आरोपी के बारे में लीड मिली और उसे वसंत विहार इलाके से गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल पुलिस आरोपी से पूछताछ कर आगे की तफ्तीश कर रही है।
facebook twitter instagram