+

सुशांत केस : ड्रग एंगल की जांच तेज, रिया के भाई शोविक और मिरांडा को पूछताछ के लिए ले गयी NCB

सुशांत 14 जून को यहां अपने बांद्रा स्थित फ्लैट पर मृत पाए गए थे। प्रवर्तन निदेशालय, सीबीआई और एनसीबी के शामिल होने के बाद से जांच का दायरा हर रोज बढ़ता जा रहा है।
सुशांत केस : ड्रग एंगल की जांच तेज, रिया के भाई शोविक और मिरांडा को पूछताछ के लिए ले गयी NCB
नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की टीम ने अपना शिकंजा कसते हुए अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में शुक्रवार को कई जगहों पर छापे मारे, जिनमें सुंशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती के भाई शोविक और दिवंगत अभिनेता के हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा के घर पर की गई छापेमारी भी शामिल है। एनसीबी दो घंटे तक तलाशी के बाद शोविक और मिरांडा को अपने कार्यालय में पूछताछ के लिए ले गई।
सुशांत 14 जून को यहां अपने बांद्रा स्थित फ्लैट पर मृत पाए गए थे। प्रवर्तन निदेशालय, सीबीआई और एनसीबी के शामिल होने के बाद से जांच का दायरा हर रोज बढ़ता जा रहा है। ड्रग एंगल ने मामले में नया मोड़ ला दिया। एनसीबी के उप निदेशक के.पी.एस. मल्होत्रा ने मीडिया को बताया कि शोविक के घर और मिरांडा के घर की तलाशी ली जा रही है लेकिन उन्होंने विस्तार से बताने से मना कर दिया।
सुबह 6.30 बजे के आसपास छापा मारा गया। ये छापा एक कथित ड्रग कारोबारी जैद विलात्रा के मुंबई की अदालत द्वारा सात दिन के लिए एनसीबी कस्टडी में भेजने के एक दिन बाद मारा गया है। 'नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रॉपिक सब्सटैंस एक्ट' 1985 के प्रावधानों के तहत छापा मारा गया। मुंबई के जुहू तारा रोड पर प्रिमरोज हाउसिंग सोसाइटी के बाहर अच्छी-खासी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात हैं, जिसमें चक्रवर्ती परिवार का किराए पर लिया गया फ्लैट है।
एनसीबी ने प्रवर्तन निदेशालय द्वारा पत्र लिखकर कार्रवाई करने के आग्रह के बाद 26 अगस्त को मामला दर्ज किया था।मामला दर्ज करने के बाद, 27-28 अगस्त की आधी रात को एनसीबी ने मुंबई में तलाशी ली और अब्बास लखानी और करण अरोड़ा को गिरफ्तार किया गया और उनके पास से 'बड' (क्यूरेटेड मारिजुआना) बरामद किया गया। मामले में शामिल व्यक्तियों के तथाकथित सोशल मीडिया संदेश में कुछ जगहों पर 'बड' का जिक्र है। अधिकारी ने कहा कि नेटवर्क के बारे में विस्तार से पता करने और जांच में विलात्रा के साथ लखानी के संबंध सामने आए।
अधिकारी ने आगे कहा कि विलात्रा ने यह भी खुलासा किया कि वह ड्रग पेडलिंग के धंधे में, खासकर बड, के जरिए अच्छी-खासी रकम कमाता था। अधिकारी ने कहा, "विलात्रा से पूछताछ के आधार पर, अब्दुल बासित परिहार को जांच के दायरे में लाया गया। यह पता चला था कि ईडी द्वारा पेश किए गए विवरण के आधार पर प्रारंभिक जांच में पूर्व आरोपी व्यक्तियों के साथ परिहार के संबंध पाए गए थे।"
एनसीबी सूत्र ने कहा कि परिहार का संबंध सैमुअल मिरांडा से था, जो रिया चक्रवर्ती का करीबी सहयोगी भी था। मिरांडा पर रिया के भाई शोविक के निर्देश पर ड्रग्स खरीदने का आरोप है। एनसीबी ने रिया, उसके भाई शोविक, टैलेंट मैनेजर जया साहा, सुशांत की को-मैनेजर श्रुति मोदी और गोवा के होटल व्यवसायी गौरव आर्य के खिलाफ 'नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रॉपिक सब्सटैंस एक्ट' की धारा 20 (बी) 28, 29 के तहत मामला दर्ज किया।
रिया और श्रुति मोदी, मिरांडा और सिद्धार्थ पिठानी के बीच व्हाट्सएप पर हुई बातचीत सामने आने के बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा मंगलवार को एनसीबी को लिखे जाने के बाद एनसीबी ने मामला दर्ज किया था।

पीएम मोदी ने IPS अधिकारियों को तनाव झेलने के लिए दिया योग का मंत्र, कही ये बात


facebook twitter