+

रजनीकांत की पार्टी बनने से पहले टूटी, RMM सदस्यों को अन्य राजनीतिक दल में शामिल होने की मिली छूट

अभिनेता रजनीकांत के राजनीति में प्रवेश नहीं करने के फैसले पर पुनर्विचार से इंकार किये जाने के बाद रजनी मक्कल मंदरम (आरएमएम) ने सोमवार को कहा कि संगठन के सदस्य अपनी इच्छानुसार किसी राजनीतिक दल में शामिल होने के लिए मुक्त हैं।
रजनीकांत की पार्टी बनने से पहले टूटी, RMM सदस्यों को अन्य राजनीतिक दल में शामिल होने की मिली छूट
अभिनेता रजनीकांत के राजनीति में प्रवेश नहीं करने के फैसले पर पुनर्विचार से इंकार किये जाने के बाद रजनी मक्कल मंदरम (आरएमएम) ने सोमवार को कहा कि संगठन के सदस्य अपनी इच्छानुसार किसी राजनीतिक दल में शामिल होने के लिए मुक्त हैं।
3 जिला सचिवों के साथ और अन्य अधिकारियों के रविवार को डीएमके में शामिल होने के बाद आरएमएम ने कहा कि उसके सदस्य अपना इस्तीफा सौंपने के बाद अपनी पसंद के किसी भी राजनीतिक दल में शामिल होने के लिए स्वतंत्र हैं। आरएमएम नेता वी.एम. सुधाकर ने एक बयान जारी कर कहा कि जो लोग आरएमएम में हैं और वे किसी राजनीतिक पार्टी में शामिल होना चाहते हैं तो वे अपना इस्तीफा सौंपने के बाद ऐसा कर सकते हैं।
उन्होंने यह भी कहा कि आरएमएम सदस्यों को यह नहीं भूलना चाहिए कि जो लोग इस्तीफा देकर किसी राजनीतिक पार्टी में शामिल हो रहे हैं, वे अभिनेता रजनीकांत के प्रशंसक हैं। बता दें कि अभिनेता के यह कहने के बाद कि वह सक्रिय राजनीति में प्रवेश नहीं करेंगे, रविवार को आरएमएम के 3 जिला सचिवों ने डीएमके में सदस्यता ले ली थी।
29 दिसंबर, 2020 को रजनीकांत ने कोविड-19 महामारी के कारण उनकी सेहत को होने वाले खतरे का हवाला देते हुए तमिलनाडु की राजनीति में नहीं आने के अपने फैसले की घोषणा की थी, जबकि इससे कुछ दिन पहले ही उन्होंने सत्तारूढ़ एआईएडीएमके और प्रमुख विपक्षी दल डीएमके के खिलाफ चुनावी बिगुल फूंका था। 10 जनवरी को रजनीकांत के प्रशंसकों ने यहां शांतिपूर्ण प्रदर्शन करके उससे तमिलनाडु की राजनीति में उतरने की मांग की थी, लेकिन जबाव में अभिनेता ने अपनी सेहत का हवाला लेकर राजनीति में न आने का अपना फैसला दोहराया था।

अर्णब गोस्वामी और दासगुप्त के बीच हुई कथित बातचीत पर NCP ने की जेपीसी की मांग 

facebook twitter instagram